Expressnews7

यूपी की प्रति लाख आबादी के हिसाब से अपराध दर ज्यादातर राज्यों से कम

यूपी की प्रति लाख आबादी के हिसाब से अपराध दर ज्यादातर राज्यों से कम

2017-12-05 08:51:15
यूपी की प्रति लाख आबादी के हिसाब से अपराध दर ज्यादातर राज्यों से कम

लखनऊ -पुलिस महानिदेशक सुलखान सिंह ने सोमवार को पत्रकारवार्ता करके दावा किया कि यूपी की प्रति लाख आबादी के हिसाब से अपराध दर ज्यादातर राज्यों से कम है। इस हिसाब से देश के 25 राज्य यूपी से ऊपर हैं। नैशनल क्राइम रेकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के आंकड़ों का जिक्र करते हुए डीजीपी ने कहा कि 2016 में देश में कुल 29 लाख 75 हजार 711 मामले आईपीसी के तहत दर्ज हुए। इनमें 2 लाख 82 हजार 171 मामले यूपी के हैं।

सुलखान सिंह ने कहा कि अपराध दर प्रति लाख आबादी के आधार पर तय की जाती है और इस हिसाब से यूपी में अपराध दर अन्य राज्यों की तुलना में काफी कम है। यहां के समाज की आपराधिक मानसिकता अन्य राज्यों की तुलना में बहुत कम है। प्रदेश में हत्याओं का ग्राफ लगातार गिर रहा है, जिसके आधार पर यह कहा जा सकता है कि यहां पुलिस की कार्रवाई ठीक है। डीजीपी ने यह दावा सोमवार को प्रेस वार्ता में किया।

डीजीपी ने कहा कि यूपी में आईपीसी के अपराधों का रेट 128.7% हैं, जो देश की औसत अपराध दर 233.6% से कम है। उन्होंने कहा कि अपराधों में यह कमी यूपी में भारी पुलिस बल की कमी के बावजूद है। देश में प्रतिलाख आबादी पर 156 पुलिसकर्मियों की तैनाती तय है जबकि देश में वर्तमान समय में एक लाख आबादी पर महज 121 पुलिसकर्मी ही तैनात हैं। प्रदेश में एक लाख की आबादी पर मंजूरी 171 पुलिसकर्मियों की है जबकि तैनाती महज 78 पुलिसकर्मियों की है।

डीजीपी सुलखान सिंह ने माना कि साइबर अपराध आगे के समय में और बढ़ेगा, यह पुलिस के लिए बड़ी चुनौती है। इसे ध्यान में रखते हुए पुलिस ट्रेनिंग सेंटरों में लैब स्थापित की गई हैं। साथ ही पुलिस विभाग करीब नौ करोड़ रुपये के उपकरण खरीदने जा रहा है। उन्होंने बताया कि एनसीआरबी के मुताबिक साइबर अपराध के मामले में यूपी 10वें स्थान पर है। 2016 में यूपी में साइबर अपराध के 2,639 मामले
दर्ज किए गए।

पिछले दिनों प्रदेश पुलिस पर हुए हमलों के सवाल पर सुलखान ने कहा- ये पुलिस पर हमले नहीं हैं। उन्होंने हमलों को तीन श्रेणियों में बांटते हुए तर्क दिया कि पुलिस पर हमला उसे कहते हैं, जो घात लगाकर किया जाए। रेड के दौरान पुलिसकर्मियों का विरोध हमला नहीं होता, उसे मुजहमत कहते हैं। नोएडा में एनआईए की टीम पर हुए हमले को डीजीपी ने पुलिस की चूक माना।


राज्यपाल ने चार कुलपति किये नियुक्त

राज्यपाल ने चार कुलपति किये नियुक्त

राज्यपाल ने चार कुलपति किये नियुक्त

 अपराधियों की कोई जाति, वर्ग व धर्म नहीं होता - डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय

अपराधियों की कोई जाति, वर्ग व धर्म नहीं...

अपराधियों की कोई जाति, वर्ग व धर्म नहीं होता - डा0...

योगी सरकार ने मदरसों की शिक्षा में तीन हजार करोड़ रुपये की रकम स्वीकृत की

योगी सरकार ने मदरसों की शिक्षा में तीन...

योगी सरकार ने मदरसों की शिक्षा में तीन हजार करोड़...

योगी सरकार ने अल्पसंख्यकों के कल्याण की योजनाओं के लिए बढ़ाया बजट

योगी सरकार ने अल्पसंख्यकों के कल्याण की...

योगी सरकार ने अल्पसंख्यकों के कल्याण की योजनाओं...

सरकार ने 4 लाख 28 हजार 384 करोड़ 52 लाख का पेश किया बजट

सरकार ने 4 लाख 28 हजार 384 करोड़ 52 लाख का पेश...

सरकार ने 4 लाख 28 हजार 384 करोड़ 52 लाख का पेश किया बजट

कांग्रेस दलितों  के सुरक्षा और स्वाभिमान के लिए करने जा रही है दलित सुरक्षा एवं संविधान बचाओ सम्मेलन

कांग्रेस दलितों के सुरक्षा और स्वाभिमान...

कांग्रेस दलितों के सुरक्षा और स्वाभिमान के लिए...

ExpressNews7