Expressnews7

क्या डाइट है बांझपन का कारण

क्या डाइट है बांझपन का कारण

2018-01-22 10:36:04
क्या डाइट है बांझपन का कारण

नई द‍िल्‍ली : पिछले कई सालों में बांझपन के मामलों में तेजी से इजाफा हुआ है. खासकर पुरुषों में तो यह समस्‍या खतरे के निशान को छू रही है. ऐसे में हर चीज के लिए जीन्‍स को जिम्‍मेदार नहीं ठहराया जा सकता. अनहेल्‍दी आदतें जैंसे कि शराब और सिगरेट इसके लिए दोषी हैं लेकिन बहुत कम लोग ही जानते हैं कि कई चीजें ऐसी हैं जिन्‍हें खाने से बांझपन का खतरा बढ़ जाता है. जी हां, अगर आपको लगता है कि बांझपन और आपकी डाइट का आपस में कोई लेना-देना नहीं है तो आप गलत सोच रहे हैं. आपकी डाइट न सिर्फ आपकी सेक्‍स लाइफ को नुकसान पहुंचा रही है बल्‍कि पिता बनने के सपने को भी चकनाचूर कर रही है. यहां पर हम आपको खाने की ऐसी 6 चीजों के बारे में बता रहे हैं जो पुरुषों के बांझपन के लिए काफी हद तक जिम्‍मेदार हैं:

1. प्रोसेस्‍ड मीट
आपको मीट खाना पसंद है, लेकिन इसके प्रति अपने प्‍यार को एक तरफ रखिए और यह जान लीजिए कि सही मीट का चुनाव करना कितना जरूरी है. ऑर्गेनिक मीठ तो ठीक है लेकिन प्रोसेस्‍ड मीट खाना आपके लिए बिलकुल अच्‍छा नहीं है. दरअसल, प्रोसेस्‍ड मीट आपके स्‍पर्म की क्‍वालिटी पर असर डालता है. हैमबर्गर, हॉट, डॉग और सलामी में इस्‍तेमाल होने वाला प्रोसेस्‍ड मीट आपके स्‍पर्म काउंट को 23 फीसदी तक कम कर सकता है. प्रोसेस्‍ड मीट नुकसानदेह है क्‍योंकि इसमें हार्मोनल अवशेष होते हैं जो प्रजनन तंत्र को नुकसान पहुंचा सकते हैं.

2. फैट से भरपूर डेयरी प्रोडक्‍ट
फैट से भरपूर डेयरी प्रोडक्‍ट जैसे कि दूध और चीज़ स्‍पर्म की फुरती को नुकसान पहुंचाते हैं. रोजाना फुल फैट दूध पीना भी स्‍पर्म काउंट के कम होने का बहुत बड़ा कारण हो सकता है. दिन में दो बार फुल फैट डेयरी प्रोडक्‍ट लेने से जवान पुरुषों को इस तरह का नुकसान हो सकता है.

3. शुगर वाली ड्रिंक्‍स
अगर आपको शुगर युक्‍त ड्रिंक्‍स जैसे कि सोडा, एनर्जी ड्रिंक्‍स और कार्बोहाइड्रेट ड्रिंक्‍स पसंद हैं तो आपको इसे जरूर पढ़ना चाहिए. एक रिसर्च में खुलासा हुआ है कि एक दिन में एक से ज्‍यादा शुगर और कार्बोहाइड्रेट ड्रिंक्‍स पीने से स्‍पर्म क्‍वालिटी सीधे तौर पर प्रभाव‍ित होती है. ज्‍यादा शुगर इंसुलिन रजिस्‍टेंट को बढ़ाकर ऑक्‍सीडेटिव स्‍ट्रेस पैदा करती हैं. नतीजतन स्‍पर्म की फुरती कम हो जाती है.

4. नॉन-आर्गेनिक फूड
जितना हो सकता है उतना नॉन-ऑर्गेनिक यानी कि कीटनाशकों की मदद से उगाई गई चीजों को न खाएं. कीटनाशकों के छ‍िड़काव से तैयार फल और सब्‍जियां आपके स्‍पर्म काउंट को कम कर देती हैं. इसमें प्रोसेस्‍ड मीट, सेब, स्‍ट्रॉबेरी, अंगूर, सेलरी, टमाटर, बेल पेपर, पालक और खीरा शामिल हैं. कीटनाशकों और हार्मोन्‍स का असर इन चीजों पर सबसे ज्‍यादा पड़ता है. अब आप सोच रहे होंगे कि बाजार में नॉन-ऑर्गेनिक चीजें ही ज्‍यादा म‍िलती हैं और आपके पास इन्‍हें खाने के अलावा दूसरा कोई ऑप्‍शन नहीं है तो इन्‍हें इस्‍तेमाल करने से पहले अच्‍छी तरह धो लें.       

5. कैफीन
अगर आपको चाय-कॉफी कुछ ज्‍यादा ही पसंद है तो आपका ये शौक महंगा साबित हो सकता है. क्‍या आप जानते हैं कि चाय-कॉफी आपकी सेक्‍शुअल हेल्‍थ को नुकसान पहुंचा रही है? जी हां, एक दिन में दो कप से ज्‍यादा चाय-कॉफी आपके प्रजनन सेल्‍स की हेल्‍थ खराब करती हैं. अगर आप पूरी तरह से इन्‍हें पीना बंद नहीं कर सकते तो कम से कम एक दिन में दो कप से ज्‍यादा न पीएं.

6. जंक फूड
जिन चीजों में फैट और शुगर ज्‍यादा होती है वो आपके पाचन तंत्र, दिल और प्रजनन सेल्‍स के लिए ठीक नहीं होती हैं. इस तरह का खाना खाने से आपके स्‍पर्म काउंट के विकास पर विपरीत असर पड़ता है. इसमें स्‍टेरॉयड भी शामिल हैं. यानी बॉडी बनाने के चक्‍कर में आप अपनी फर्टिलिटी को नुकसान पहुंचा रहे हैं.


नरेंद्र मोदी सूरज हैं अखिलेश यादव फ्यूज बल्ब-- धर्मपाल सिंह

नरेंद्र मोदी सूरज हैं अखिलेश यादव फ्यूज...

नरेंद्र मोदी सूरज हैं अखिलेश यादव फ्यूज बल्ब--...

बिचैलियों को हर हाल में गेहूं खरीद केन्द्रों से दूर रखा जाए--C.M

बिचैलियों को हर हाल में गेहूं खरीद केन्द्रों...

बिचैलियों को हर हाल में गेहूं खरीद केन्द्रों से...

बिचैलियों को हर हाल में गेहूं खरीद केन्द्रों से दूर रखा जाए--C.M

बिचैलियों को हर हाल में गेहूं खरीद केन्द्रों...

बिचैलियों को हर हाल में गेहूं खरीद केन्द्रों से...

निशुल्क योग शिविरों में योग के साथ साथ होगी क्षेत्रीय विकास पर चर्चा

निशुल्क योग शिविरों में योग के साथ साथ...

निशुल्क योग शिविरों में योग के साथ साथ होगी क्षेत्रीय...

सेप्टेज एवं ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए नीति बनायी जायेगी---सुरेश खन्ना

सेप्टेज एवं ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए...

सेप्टेज एवं ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए नीति बनायी...

लोक अदालत के सफल आयोजन की जिम्मेदारी न्यायिक अधिकारियों की -ब्रजेश पाठक

लोक अदालत के सफल आयोजन की जिम्मेदारी न्यायिक...

लोक अदालत के सफल आयोजन की जिम्मेदारी न्यायिक अधिकारियों...

ExpressNews7