Expressnews7

उ.प्र. हिन्दी संस्थान द्वारा ‘गुलाब राय पुरस्कार’ से नवाजे गये प्रख्यात साहित्यकार पं. हरि ओम शर्मा ‘हरि’

उ.प्र. हिन्दी संस्थान द्वारा ‘गुलाब राय पुरस्कार’ से नवाजे गये प्रख्यात साहित्यकार पं. हरि ओम शर्मा ‘हरि’

2018-02-05 08:21:56
उ.प्र. हिन्दी संस्थान द्वारा ‘गुलाब राय पुरस्कार’ से नवाजे गये प्रख्यात साहित्यकार पं. हरि ओम शर्मा ‘हरि’

लखनऊ, 4 फरवरी। उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान ने हिन्दी साहित्य जगत के सशक्त हस्ताक्षर पं. हरि ओम शर्मा ‘हरि’ को ‘गुलाब राय पुरस्कार’ से नवाजा है तथापि पुरस्कार स्वरूप रु. 20,000/- की धनराशि बैंक ड्राफ्ट द्वारा एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। पं. शर्मा को यह पुरस्कार उनकी अद्भुद कृति ‘जीवन जियो जान से’ के लेखन हेतु प्रदान किया गया है। पं. हरि ओम शर्मा ‘हरि’ द्वारा लिखित पुस्तक ‘जीवन जियो जान से’ मुख्यतः समाज के वरिष्ठ नागरिकों को समर्पित है तथापि किशोरवय पीढ़ी, युवा पीढ़ी एवं बुजुर्ग पीढ़ी के बीच समन्वय स्थापित करने पर जोर देती है। वस्तुतः यह पुस्तक वरिष्ठ नागरिकों के आत्मबल को जगाकर उन्हें समाज के मार्गदर्शन हेतु प्रेरित करती है ताकि उनके अनुभवों, वैचारिक उत्कृष्टता एवं आध्यात्मिक ऊँचाइयों का समाज के प्रत्येक सदस्य को मिल सके एवं आने वाली पीढ़ियों को उज्जवल भविष्य मिल सके।

पं. हरि ओम शर्मा ‘हरि’ के निजी सचिव श्री राजेन्द्र चैरसिया ने बताया कि पं. हरि ओम शर्मा ‘हरि’ अब तक 15 पुस्तकें लिख चुके हैं। पं. शर्मा जी के उत्कृष्ट लेखन को देश ही नहीं अपितु विदेशों में भी सराहा गया है। इसके अलावा साहित्य व पत्रकारिता के क्षेत्र में अतुलनीय योगदान के लिए पं. हरि को विभिन्न उपाधियों व सम्मान से सम्मानित किया जा चुका है जिनमें पत्रकार गौरव सम्मान, सागरिका सम्मान, साहित्य मनीषी सम्मान, साहित्य सागर सम्मान, प्रकृति रत्न सम्मान, साहित्य रत्न सम्मान, साहित्य श्री सम्मान, ‘शब्दश्री’ सम्मान, सारस्वत सम्मान, साहित्य भूषण सम्मान एवं सृजन सम्मान आदि प्रमुख हैं। श्री चैरसिया ने बताया कि पं. शर्मा द्वारा लिखित पुस्तकों में ‘जागो, उठो, चलो’, ‘अवेक, एराइज, असेन्ड’, ‘जड़, जमीन, जहान’, ‘हार्वेस्ट आॅफ ह्यूमन वैल्यूज’, ‘जिद, जुनून, जिन्दादिली’, ‘सच करें सपने’, ‘कैसे बनें सफल माता-पिता’, ‘अपना रास्ता खुद बनायें’, ‘छोटी बातें, बड़े परिणाम’, ‘आओ करें ईश वन्दना’, ‘योर डेस्टिनी इज इन योर हैण्ड्स’, ‘गिव विंग्स टु योर चाइल्ड’, ‘जीवन जियो जान से’, ‘आईडियाज दैट इम्पाॅवर’ एवं ‘12 महीने 365 दिन’ शामिल हैं। पं. शर्मा जी का अनवरत् लेखन जारी है। वह सोलहवीं पुस्तक लिख रहे हैं, जो शीघ्र ही पाठकों के हाथों में होगी।

 


प्रदेश के समस्त जनपदों की मुख्य नदियों में विसर्जित की जाएंगी अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां-मुख्यमंत्री

प्रदेश के समस्त जनपदों की मुख्य नदियों...

प्रदेश के समस्त जनपदों की मुख्य नदियों में विसर्जित...

लोकसभा और चार राज्यों में चुनाव दिसंबर में एक साथ कराने में आयोग सक्षम- चुनाव आयुक्त

लोकसभा और चार राज्यों में चुनाव दिसंबर...

लोकसभा और चार राज्यों में चुनाव दिसंबर में एक साथ...

जैसे-जैसे चुनाव की तिथियां नजदीक आ रही हैं, भाजपा नेतृत्व की घबराहट बढ़ती जा रही है- अखिलेश यादव

जैसे-जैसे चुनाव की तिथियां नजदीक आ रही...

जैसे-जैसे चुनाव की तिथियां नजदीक आ रही हैं, भाजपा...

A.D से हो रहा है महाराजगंज मे भष्ट्राचार,नदियो की गहराई और परकोपाइन मे है लम्बा धालमेल

A.D से हो रहा है महाराजगंज मे भष्ट्राचार,नदियो...

A.D से हो रहा है महाराजगंज मे भष्ट्राचार,नदियो की...

 उ0प्र0 में देश का सबसे बड़ा ‘वर्कफोर्स’ मौजूद: राष्ट्रपति

उ0प्र0 में देश का सबसे बड़ा ‘वर्कफोर्स’ मौजूद:...

उ0प्र0 में देश का सबसे बड़ा ‘वर्कफोर्स’ मौजूद: राष्ट्रपति

कालाहांडी होने से बचा लखनऊ,बेसहारा महिला को समय पर मदद कर उसके पति के शव को भेजा गया सीतापुर

कालाहांडी होने से बचा लखनऊ,बेसहारा महिला...

कालाहांडी होने से बचा लखनऊ,बेसहारा महिला को समय...

ExpressNews7