Expressnews7

नीति आयोग के हेल्थ इन्डेक्स मे केरल पास,यूपी फेल

नीति आयोग के हेल्थ इन्डेक्स मे केरल पास,यूपी फेल

2018-02-10 08:58:54
नीति आयोग के हेल्थ इन्डेक्स मे केरल पास,यूपी फेल

नीति आयोग द्वारा जारी हेल्थ इन्डेक्स मे उत्तर प्रदेश का बुरा हाल
लखनऊ- सेहत की दौड मे उत्तर प्रदेश का बुरा हाल हो गया है। नीति आयोग द्वारा जारी हेल्थ इन्डेक्स मे उत्तर प्रदेश नीचे के पायदान पर खडा दिखाई दे रहा है। बाउजुद उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मन्त्री सिंद्धार्थनाथ सिह को यह विश्वास है कि आने वाले समय मे नीति आयोग के हेल्थ इन्डेक्स मे उत्तर प्रदेश उपरी पायदान पर दिखाई देगा। नीति आयोग द्वारा जारी स्वास्थय सूचकांक मे केरल, पंजाब और तमिलनाडु का प्रदर्शन सबसे ऊपर है, वही उत्तर प्रदेश का प्रदर्शन नीचे रहा। जारी हेल्थ इन्डेक्स मे झारखंड, और जम्मू और कश्मीर मे सबसे अधिक वृद्धिशील सुधार देखे जाने की बात कही गयी। इस हेल्थ इन्डेक्स मे राज्यों को बड़े और छोटे के हिसाब से विभाजित किया गया था। जबकि केंद्र शासित प्रदेशों को एक अलग श्रेणी दी गई थी। इसमे विश्व बैंक, सार्वजनिक स्वास्थ्य और अर्थशास्त्र और राज्य सरकारों के विशेषज्ञों ने नीती आयोग को इंडेक्स के मसौदे में मदद की। नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत ने शुक्रवार को 'हेल्दी स्टेट्स, प्रोग्रेसिव इंडिया' शीर्षक वाली रिपोर्ट जारी की जिसमें स्वास्थ्य सूचकांक पर राज्यों की यह रैंकिंग दी गयी है। नीति आयोग में एडवाइजर और वरिष्ठ आइएएस अधिकारी आलोक कुमार के नेतृत्व में आयोग के अधिकारियों के दल ने विश्व बैंक, केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों तथा विशेषज्ञों की मदद से इस इंडेक्स को तैयार किया है। नवजात मृत्यु दर (आइएमआर) और मैटरनल मॉर्टिलिटी रेट (एमएमआर) जैसे स्वास्थ्य संकेतकों के वर्ष 2015-16 के आंकड़ों के आधार पर बनायी गयी इस इंडेक्स पर 21 बड़े राज्यों, आठ छोटे राज्यों और सात केंद्र शासित प्रदेशों की तीन अलग-अलग श्रेणियों में रैंकिंग की गयी है। रिपोर्ट के अनुसार हेल्थ इंडेक्स पर 80 अंकों के स्कोर के साथ बड़े राज्यों में केरल का प्रदर्शन सर्वश्रेष्ठ है जबकि 33.69 अंकों के साथ उत्तर प्रदेश सबसे फिसड्डी है। यूपी का यह स्कोर बड़े व छोटे राज्यों और सभी केंद्र शासित प्रदेशों में न्यूनतम है। हालांकि संतोष की बात यह है कि वर्ष 2014-15 में इस इंडेक्स पर यूपी का स्कोर 28.14 था जो 2015-16 में 5.55 अंक सुधर कर 33.69 अंक हो गया है। इसके बावजूद यह देश में न्यूनतम है।बड़े राज्यों में हेल्थ इंडेक्स पर 65.21 अंकों के साथ दूसरा नंबर पंजाब का है। वहीं 62.12 अंकों के साथ हिमाचल प्रदेश 5वें पायदान पर है। जम्मू कश्मीर 60.35 अंकों के साथ सातवें नंबर पर है और 2014-15 के इसके 53.52 अंक के स्कोर में 6.83 अंक का सुधार भी आया है। इस सूचकांक पर 52.02 अंकों के साथ छत्तीसगढ़ 12वें और 49.87 अंकों के साथ हरियाणा 13वें नंबर पर है। हेल्थ इंडेक्स पर 45.33 अंक के साथ झारखंड 14वें नंबर पर है। 2014-15 में झारखंड का स्कोर मात्र 38.46 था जो 2015-16 में 6.87 अंक सुधकर 45.33 हो गया है जो अन्य राज्यों की तुलना में सबसे अधिक है। इसका मतलब यह है कि स्वास्थ्य सूचकांक पर सर्वाधिक तेजी से प्रदर्शन सुधारने के मामले में झारखंड अन्य राज्यों की तुलना में सबसे आगे है। स्वास्थ्य सूचकांक पर उत्तराखंड 45.22 अंकों के साथ 15वें नंबर है और हाल के वर्षो में राज्य का प्रदर्शन सुधरने के बजाय खराब हुआ है। हेल्थ इंडेक्स पर मात्र 38.46 अंकों के साथ बिहार 19वें नंबर पर है और राज्य के प्रदर्शन में कुछ खास सुधार नहीं आया है।

हेल्थ इंडेक्स पर यह है संघ शासित क्षेत्रों की रैंकिंग

संघीय क्षेत्र            रैंक

लक्षद्वीप               1

चंडीगढ़               2

दिल्ली                 3

अंडमान निकोबार  4

पुदुचेरी                5

दमन एवं द्वीव      6

दादरा नगर हवेली 7

हेल्थ इंडेक्स पर यह है बड़े राज्यों की रैंकिंग

राज्य              रैंक

केरल             1

पंजाब            2

तमिलनाडु      3

गुजरात          4

हिमाचल प्रदेश 5

महाराष्ट्र           6

जम्मू कमश्मीर 7

आंध्र प्रदेश       8

कर्नाटक          9

पश्चिम बंगाल 10

तेलंगाना       11

छत्तीसगढ़     12

हरियाणा      13

झारखंड       14

उत्तराखंड     15

असम        16

मध्यम प्रदेश 17

उड़ीसा          18

बिहार          19

राजस्थान     20

उत्तर प्रदेश    21

नीति आयोग द्वारा जारी हेल्थ इन्डेक्स मे यूपी को नीचे क्रम मे आने को लेकर चिन्तित स्वास्थय मन्त्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने आज एक बैठक कर उन कमियो पर चर्चा की जिससे की उत्तर प्रदेश का स्वास्थय के क्षेत्र मे यह हाल हुआ है।
इस बैठक मे स्वास्थय विभाग से जुडे सभी अधिकारी मौजूद थे।


 अपराधियों की कोई जाति, वर्ग व धर्म नहीं होता - डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय

अपराधियों की कोई जाति, वर्ग व धर्म नहीं...

अपराधियों की कोई जाति, वर्ग व धर्म नहीं होता - डा0...

योगी सरकार ने मदरसों की शिक्षा में तीन हजार करोड़ रुपये की रकम स्वीकृत की

योगी सरकार ने मदरसों की शिक्षा में तीन...

योगी सरकार ने मदरसों की शिक्षा में तीन हजार करोड़...

योगी सरकार ने अल्पसंख्यकों के कल्याण की योजनाओं के लिए बढ़ाया बजट

योगी सरकार ने अल्पसंख्यकों के कल्याण की...

योगी सरकार ने अल्पसंख्यकों के कल्याण की योजनाओं...

सरकार ने 4 लाख 28 हजार 384 करोड़ 52 लाख का पेश किया बजट

सरकार ने 4 लाख 28 हजार 384 करोड़ 52 लाख का पेश...

सरकार ने 4 लाख 28 हजार 384 करोड़ 52 लाख का पेश किया बजट

कांग्रेस दलितों  के सुरक्षा और स्वाभिमान के लिए करने जा रही है दलित सुरक्षा एवं संविधान बचाओ सम्मेलन

कांग्रेस दलितों के सुरक्षा और स्वाभिमान...

कांग्रेस दलितों के सुरक्षा और स्वाभिमान के लिए...

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि अब होनी चाहिए सच्चाई पर चर्चा

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष...

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव...

ExpressNews7