Expressnews7

परीक्षा से भागते बच्चे, जिम्मेदार कौन?

परीक्षा से भागते बच्चे, जिम्मेदार कौन?

2018-02-12 10:00:42
परीक्षा से भागते बच्चे, जिम्मेदार कौन?

अभी यू.पी. बोर्ड परीक्षा को शुरू हुए महज चार-पाँच दिन ही हुए हैं, इतने अल्प समय में दस लाख से अधिक छात्रों ने परीक्षा छोड़ दी है, जो कि एक चिन्तनीय विषय है। यह चिन्तन, मनन व मंथन का विषय है कि आखिर इतनी भारी संख्या में छात्रों ने परीक्षा क्यों छोड़ दी? इस प्रश्न से प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ भी अछूते नहीं रहे, आखिर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा लिखित पुस्तक ‘एग्जाम वारियर्स’ के विमोचन समारोह में उनका दर्द छलक ही आया। उनके मुँह से बरबस ही निकल पड़ा कि परीक्षा के डर से 10 लाख छात्रों ने परीक्षा छोड़ी है। पढ़ाई का तरीका बदलेंगे। अब यहाँ ज्वलन्त प्रश्न यह है कि छात्रों का परीक्षा छोउ़ना क्या परीक्षा का डर है? यदि डर है क्यों है? और इस डर के लिए कौन जिम्मेदार है?

क्या नकल माफिया जिम्मेदार है?
इसमें कोई दो राय नहीं कि इस बार नकल माफियाओं की दाल आसानी से गल नहीं पा रही हैं नकल के लिए कुख्यात अलीगढ़ जिले की अतरौली विधानसभा क्षेत्र है जहाँ का प्रतिनिधित्व पूर्व मुख्यमंत्री व वर्तमान में राजस्थान के राज्यपाल श्री कल्याण सिंह व उनकी पुत्रवधू कर चुकी है और वर्तमान में उनके पोते श्री संदीप सिंह कर रहे हैं, जो प्रदेश सरकार में शिक्षा राज्यमंत्री है। वहां पर भी प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा को जाने के लिए अपना कार्यक्रम गोपनीय रखना पड़ा। क्या वास्तव में नकल का जाल इतना गहरा है कि वहाँ प्रदेश के मुख्यमंत्री को जाना पड़ा। यदि ऐसा है तो यह बहुत ही गंभीर समस्या है। तो क्या नकल न होने की वजह से इतनी भारी संख्या में छात्र परीक्षा छोड़ रहे हैं? किन्तु इसको पूर्ण कारण नहीं माना जा सकता है। इसके और भी कारण है, जिन्हें खोजना होगा।

क्या अभिभावक जिम्मेदार हैं?
पूर्ण रूप से यह बात सत्य की कसौटी पर खरी नहीं उतरती है कि नकल करवाने के लिए अभिभावक जिम्मेदार हैं, मगर आंशिक रूप से यह बात देखी व सुनी भी जा रही है कि कुछ अभिभावक अपनी संतान को नकल के सहारे ही परीक्षा की नैया पार लगवाना चाहते हैं और बाकायदा इसके लिए कुछ अभिभावक नकल माफियाओं को भुगतान भी करते हैं। मगर ऐसे अभिभावकों को कौन समझाये कि आपकी संतान को इस तरह का सार्टिफिकेट मिल भी गया तो इसका उपयोग क्या होगा क्योंकि बच्चे में वास्तविक योग्यता तो नहीं है।

क्या विद्यालय व शिक्षक जिम्मेदार है?
‘अतरौलिया बोर्ड अब नहीं चलेगा’, उप-मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा का यह कथन अपने आप में बहुत कुछ कह गया है। आंशिक रूप से इसके लिए विद्यालय को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है। वह इसलिए कि नकल माफियाओं के तार विद्यालयों से जुड़े रहते हैं। बिना विद्यालयों की मिली भगत के नकल संभव नहीं हो सकती। दूसरी बात, यदि साफगोई से कही जाये तो वह यह है कि विद्यालयों में पढ़ाई जिस स्तर पर होनी चाहिए, नहीं होती है। इसके लिए केवल विद्यालय व शिक्षक ही जिम्मेदार नहीं है अपितु छुट्टियों का चार्ट भी इसके लिए जिम्मेदार है। विद्यालयों में स्तरीय पढ़ाई के लिए अवकाश के दिनों में कटौती करना भी एक विकल्प हो सकता है।

क्या पाठ्यक्रम व पढ़ाई का तरीका जिम्मेदार है?
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की पुस्तक विमोचन समारोह में उ.प्र. के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का यह कथन कि इस बार तनाव व डर की वजह से 10 लाख बच्चों ने परीक्षा छोड़ी है। अतः परीक्षा के तौर तरीकों में बदलाव लायेंगे। इसका मतलब साफ है कि मुख्यमंत्री जी परीक्षा के तौर-तरीके, पढ़ाई के तौर-तरीकों से संतुष्ट नहीं है और वह इसमें बदलाव लाना चाहते हैं। वास्तव में मुख्यमंत्री इसके लिए बधाई के पात्र हैं कि उन्होंने इन मासूम बच्चों के बारे में सोचा कि उन्होंने परीक्षा क्यों छोड़ी। इसके लिए केवल बच्चे ही जिम्मेदार नहीं है और भी जिम्मेदार हैं। प्रत्येक वर्ग को अपनी जिम्मेदारी व चिन्तन, मनन व मन्थन की आवश्यकता है कि हम भावी पीढ़ी का क्या व कैसे निर्माण कर सकते हैं।

 


शाहजहांपुर में निर्माणाधीन इमारत गिरने से कई मजदूर दबे,1 की मौत,कई गम्भीर रूप से धायल

शाहजहांपुर में निर्माणाधीन इमारत गिरने...

शाहजहांपुर में निर्माणाधीन इमारत गिरने से कई...

सिंचाई मन्त्री ने प्रमुख अभियन्ता को दी चेतावनी,पत्र लिखकर कहा बिना पूछे न करे कोई आदेश

सिंचाई मन्त्री ने प्रमुख अभियन्ता को दी...

सिंचाई मन्त्री ने प्रमुख अभियन्ता को दी चेतावनी,पत्र...

उर्दू शिक्षकों की भर्ती हुई रद्द, आदेश हुआ जारी

उर्दू शिक्षकों की भर्ती हुई रद्द, आदेश...

उर्दू शिक्षकों की भर्ती हुई रद्द, आदेश हुआ जारी

शिवपाल यादव ने कहा मुलायम किसी भी पार्टी से चुनाव लड़ें हम करेंगे समर्थन

शिवपाल यादव ने कहा मुलायम किसी भी पार्टी...

शिवपाल यादव ने कहा मुलायम किसी भी पार्टी से चुनाव...

 राजधानी लखनऊ में दो सगे भाइयों की गोली मारकर हत्या

राजधानी लखनऊ में दो सगे भाइयों की गोली...

राजधानी लखनऊ में दो सगे भाइयों की गोली मारकर हत्या

मथुरा प्रशासन से माँगा गया ‘कान्हा’ का बर्थ सर्टिफिकेट

मथुरा प्रशासन से माँगा गया ‘कान्हा’ का...

मथुरा प्रशासन से माँगा गया ‘कान्हा’ का बर्थ सर्टिफिकेट

ExpressNews7