Expressnews7

टी20 सीरीज में बांग्‍लादेश के खिलाफ मिली जीत के बाद टीम इंडिया को राहत

टी20 सीरीज में बांग्‍लादेश के खिलाफ मिली जीत के बाद टीम इंडिया को राहत

2018-03-09 07:03:51
टी20 सीरीज में बांग्‍लादेश के खिलाफ मिली जीत के बाद टीम इंडिया को राहत

नई दिल्‍ली: निधास ट्रॉफी त्रिकोणीय टी20 सीरीज में बांग्‍लादेश के खिलाफ मिली जीत के बाद टीम इंडिया ने राहत की सांस ली है. पहले मैच में मेजबान श्रीलंका के खिलाफ मिली हार के बाद भारत के लिए इस मैच में जीत हासिल करना जरूरी हो गया था. भारतीय टीम ने बांग्‍लादेश के खिलाफ यह मैच भले ही आसानी से 6 विकेट से जीता लेकिन इसके बावजूद टीम के प्रदर्शन को उच्‍च स्‍तर का नहीं माना जा सकता. खासकर गेंदबाजी के दौरान तो भारतीय टीम बिखरी-बिखरी नजर आई. मैच के दौरान कुछ ऐसे कमजोर क्षेत्र नजर आए जिसमें खिलाड़ि‍यों को तुरंत सुधार करना जरूरी है. टीम के कप्‍तान रोहित शर्मा ने भी मैच में टीम की फील्डिंग को स्‍तरीय नहीं माना. इन 4 क्षेत्रों में भारतीय टीम को सुधार की जरूरत है..टीम के नए खिलाड़ि‍यों को इस दिशा में खास ध्‍यान देना होगा.

इस मैच में भारतीय टीम की फील्डिंग बेहद खराब रही. भारतीय फील्‍डरों ने करीब आधा दर्जन कैच टपकाए. ऐसा लगा कि भारतीय फील्‍डरों के हाथ में बटर लगा हुआ है और गेंद उनके हाथ से फिसल रही है. क्षेत्ररक्षण के दौरान भारतीय खिलाड़ि‍यों के बीच तालमेल की कमी दिखा. दो खिलाड़ि‍यों के बीच गिरे कैचों के दौरान भी किसी खिलाड़ी ने 'कॉल' (कैच पकड़ने को लेकर) नहीं किया, इस कारण ये मौके भी हाथ से जाते रहे. सुरेश रैना जैसे 'सेफ फील्‍डर' ने भी मैच में आसान कैच छोड़ा. वाशिंगटन सुंदर और विजय शंकर से भी कैच ड्रॉप हुए. ग्राउंड फील्डिंग भी बिखरी-बिखरी नजर आई. भारतीय टीम को अगले मैचों में फील्डिंग सुधारनी होगी.

मैच में भारतीय खिलाड़ि‍यों की गेंदबाजी में अनुशासन नहीं दिखा. हालांकि उन्‍होंने जल्‍दी-जल्‍दी बांग्‍लादेश के विकेट झटके लेकिन इस दौरान वाइड के रूप में अतिरिक्‍त रन भी विपक्षी टीम को तोहफे में दिए. मैच में भारतीय गेंदबाजों ने 11 वाइड फेंकी. हरफनमौला विजय शंकर ने दो नोबॉल भी फेंकी. भारतीय गेंदबाजों ने इस तरह 13 अतिरिक्‍त गेंदें फेंकी. नजदीकी मुकाबले में यह कमजोरी टीम को भारी पड़ सकती है.

रोहित शर्मा इन दोनों मैचों में जल्‍दबाजी दिखाते हुए आउट हुए. श्रीलंका के खिलाफ मैच में तो वे खाता भी नहीं खोल पाए. दूसरे मैच में वे 17 रन की पारी खेल पाए. उन्‍होंने सेट हुए बिना बहुत अधिक आक्रामक रुख अख्तियार करने का खामियाजा भुगता. रोहित की बल्‍ले से नाकामी के कारण रन बनाने का जिम्‍मा काफी कुछ शिखर धवन पर आ गया. वैसे भी, इस सीरीज में भारतीय बल्‍लेबाजी का भार बहुत कुछ शिखर धवन और मनीष पांडे ने ही उठाया है.


मंत्री ने वेक्टर जनित रोगों पर रोकथाम हेतु समस्त विभागों से मांगा सहयोग 

मंत्री ने वेक्टर जनित रोगों पर रोकथाम हेतु...

मंत्री ने वेक्टर जनित रोगों पर रोकथाम हेतु समस्त...

योगी सरकार सहभागी सिंचाई प्रबंधन कार्यक्रम को देगी जन आंदोलन का रूप-- धर्मपाल सिंह

योगी सरकार सहभागी सिंचाई प्रबंधन कार्यक्रम...

योगी सरकार सहभागी सिंचाई प्रबंधन कार्यक्रम को...

बांदा: पूर्व डीजीपी के चाचा के घर डकैतों का धावा, बुजुर्ग को किया अधमरा

बांदा: पूर्व डीजीपी के चाचा के घर डकैतों...

बांदा: पूर्व डीजीपी के चाचा के घर डकैतों का धावा,...

वार्डन मैडम रात को भूत की तरह कपड़े पहन करती हैं छेड़छाड़

वार्डन मैडम रात को भूत की तरह कपड़े पहन...

वार्डन मैडम रात को भूत की तरह कपड़े पहन करती हैं...

खाली न करना पड़े सरकारी बंगला, मायावती ने बदल दिया उसे कांशीराम स्मारक में

खाली न करना पड़े सरकारी बंगला, मायावती...

खाली न करना पड़े सरकारी बंगला, मायावती ने बदल दिया...

रेप के लिए महिलाओं के कपड़ों को जिम्मेदार ठहराया-रामशंकर विद्यार्थी

रेप के लिए महिलाओं के कपड़ों को जिम्मेदार...

रेप के लिए महिलाओं के कपड़ों को जिम्मेदार ठहराया-रामशंकर...

ExpressNews7