Expressnews7

हनुमान जयंती विशेष- हनुमान जी की पूजा करते वक्‍त महिलाओं के लिए नियम

हनुमान जयंती विशेष- हनुमान जी की पूजा करते वक्‍त महिलाओं के लिए नियम

2018-03-31 06:46:27
हनुमान जयंती विशेष- हनुमान जी की पूजा करते वक्‍त महिलाओं के लिए नियम

आज हनुमान जयंती है. हनुमान भक्‍तों के ल‍िए इस पर्व का व‍िशेष महत्‍व है. ऐसी मान्‍यता है कि चैत्र महीने को पूर्णिमा के दिन भगवान हनुमान ने माता अंजना की कोख से जन्‍म लिया था. आज के दिन भक्‍त अपने आराध्‍य परम बलशाली हनुमान को प्रसन्‍न करने के लिए दिन भर व्रत रखते हैं और उनकी पूजा-अर्चना करते हैं. वैसे तो हनुमान जी बड़े दयालू हैं और अपने भक्‍तों की मदद के लिए हमेशा तत्‍पर रहते हैं, लेकिन फिर भी हनुमान जयंती के दिन उन्‍हें प्रसन्‍न करने के लिए कुछ खास नियमों का ध्‍यान रखना बेहद जरूरी है:

1. रखें शुद्धता का ध्‍यान
हनुमान जी की पूजा में शुद्धता का बड़ा महत्‍व है. नहाने के बाद साफ-धुले कपड़े ही पहनें. अगर हो सके तो इस दिन कोरे या नए कपड़े पहनने चाहिए. मान्‍यता है कि इस दिल काले रंग के कपड़े पहनकर पूजा नहीं करनी चाहिए. हनुमान जी को लाल रंग प्रिय है. पूजा करते समय लाल या पीले रंग के कपड़े पहनना शुभ माना जाता है. इसके अलावा ब्रह्मचर्य का पालन भी करें.

2. नमक का सेवन न करें
जो भक्‍त व्रत रख रहे हैं उन्‍हें हनुमान जयंती के दिन नमक का सेवन नहीं करना चाहिए. मान्‍यता है कि अगर इस दिन मिठाई का दान कर रहे हैं तो स्‍वयं उस मिठाई को न खाएं.

3. मांस या मदिरा से दूर रहें
हनुमान जयंती के दिन मांस या मदिरा का सेवन न करें. अगर व्रत रख रहे हैं तो किसी भी सूरत में इन चीजों से दूर रहें. अगर व्रत नहीं कर रहे हैं तब भी मांस-मदिरा का त्‍याग करें. इन चीजों का सेवन करने के बाद न तो हनुमान जी की पूजा करें और न ही उनके मंदिर जाएं.

4. सूतक में न करें पूजा
अगर सूतक है तो हनुमान जयंती के दिन न तो हनुमान जी का व्रत रखें और न ही उनकी पूजा करें. गौरतलब है कि जब घर में किसी की मौत हो जाती है या बच्‍चे का जन्‍म होता है तो सूतक लग जाता है. सूतक के दौरान भगवान की पूजा करने की मनाही है.

5. महिलाओं के लिए नियम
मान्‍यता है कि हनुमान जी बाल ब्रह्मचारी थे और स्‍त्रियों के स्‍पर्श से दूर रहते थे. मान्‍‍‍‍‍यता के अनुसार हनुमान जयंती के दिन पूजा करते वक्‍त महिलाआं को इन बातों का ध्‍यान रखना चाहिए:
- हनुमान जी को सिंदूर का लेप न लगाएं.
- हनुमान जी को चोला नहीं चढ़ाना चाहिए.
- हनुमान जी को जनेऊ न पहनाएं.
- बजरंग बाण का पाठ न करें.
- पूजा करते वक्‍त हनुमान जी की मूर्ति का स्‍पर्श न करें.
- अगर महिलाएं चाहें तो हनुमान जयंती के दिन हनुमान जी के चरणों में दीपक प्रज्‍ज्‍वलित कर सकती हैं.


निशुल्क योग शिविरों में योग के साथ साथ होगी क्षेत्रीय विकास पर चर्चा

निशुल्क योग शिविरों में योग के साथ साथ...

निशुल्क योग शिविरों में योग के साथ साथ होगी क्षेत्रीय...

सेप्टेज एवं ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए नीति बनायी जायेगी---सुरेश खन्ना

सेप्टेज एवं ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए...

सेप्टेज एवं ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए नीति बनायी...

लोक अदालत के सफल आयोजन की जिम्मेदारी न्यायिक अधिकारियों की -ब्रजेश पाठक

लोक अदालत के सफल आयोजन की जिम्मेदारी न्यायिक...

लोक अदालत के सफल आयोजन की जिम्मेदारी न्यायिक अधिकारियों...

आज और कल सिद्धार्थ नाथ सिंह रायबरेली एवं इलाहाबाद दौरे पर रहेंगे

आज और कल सिद्धार्थ नाथ सिंह रायबरेली एवं...

आज और कल सिद्धार्थ नाथ सिंह रायबरेली एवं इलाहाबाद...

मरीजों एवं तीमारदारों हेतु पेयजल की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित की जाय

मरीजों एवं तीमारदारों हेतु पेयजल की समुचित...

मरीजों एवं तीमारदारों हेतु पेयजल की समुचित व्यवस्था...

खादी ग्रामोद्योग विभाग द्वारा शुरू किया जा रहा है हनी मिशन-- नवनीत सहगल

खादी ग्रामोद्योग विभाग द्वारा शुरू किया...

खादी ग्रामोद्योग विभाग द्वारा शुरू किया जा रहा...

ExpressNews7