Expressnews7

दो भारतीयों को करोड़ों डॉलर के धोखाधड़ी के मामले में 517 साल की सज़ा

दो भारतीयों को करोड़ों डॉलर के धोखाधड़ी के मामले में 517 साल की सज़ा

2018-04-11 07:21:40
दो भारतीयों को करोड़ों डॉलर के धोखाधड़ी के मामले में 517 साल की सज़ा

दुबई के एक कोर्ट ने रविवार को दो भारतीयों को कई करोड़ डॉलर के धोखाधड़ी के मामले में फैसला सुनाते हुए 517 साल की जेल की सजा सुनाई। स्पेशल बेंच के प्रिसाइडिंग जज डॉक्टर मोहम्मद हनाफी ने दोनों आरोपियों में से एक की पत्नी को भी 517 साल की जेल की सजा सुनाई। इसमें सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि जज को कोर्टरूम में इस पर फैसला सुनाने में महज 10 मिनट ही लगे।

दरअसल, इन आरोपियों के द्वारा चलाई जा रही विदेशी मुद्रा व्यापार की कंपनी 'एक्सेंशियल' में कई हजार लोगों के बहुत अधिक पैसे निवेश किये गए थे, जिसके बाद में धोखाधड़ी के मामले सामने आए। कंपनी के मालिक आरोपी सिडनी लेमोंस और उसकी पत्नी वलाने और र्यान डिसूजा के खिलाफ ऐसे ही धोखाधड़ी के 515 मामले दर्ज थे। कोर्ट के अनुसार उन्हें हर एक मामले के लिए एक-एक साल की सजा सुनायी गयी और दो अन्य मामलों में 2-2 साल की सजा सुनाई गई। इस प्रकार कुल 515 मामलों में 517 साल की जेल की सजा सुनाई गई।

बताया जाता है कि पिछले साल इस घोटाले का खुलासा हुआ था। अभियोजन पक्ष ने आरोपियों के मामले को 31 अक्टूबर को स्पेशल पैनल को सौंप दिया था। मामले की पहली सुनवाई 25 दिसंबर को हुई थी जिस पर फैसला रविवार को आया। आरोपी अब अपनी सजा पर कोर्ट में अपील कर सकते हैं।

इसी बीच यूएई लॉयर ने पीड़ितों से कहा कि आरोपी अपने क्लाइंट्स के पैसे को वापस कर सकते हैं। गल्फ कानून के निदेशक अट्टी बार्नी अलमजार जो इन पीड़ितों की मदद करने के लिए फिलिपींस दूतावास के साथ काम कर रहे हैं। वे सैकड़ों फिलिपींस नागरिकों के वकील हैं जिन्होंने एक्सेंशियल में निवेश किया था। 90 पीड़ितों के समूह ने अपनी रिटायरमेंट और जीवन भर का बचत का पैसा इसमें लगा दिया था जबकि कइयों ने लोन लेकर इस कंपनी में निवेश किया था।

अलमजार ने कहा कि कोर्ट का 500 साल के सजा का फैसला इस बात का संदेश देता है कि दुबई वित्तीय अपराधों को हल्के में नहीं लेता है। फैसला पीड़ितों को कुछ न्याय दिला सकता है। यह फैसला विदेशी न्याय मामलों में स्वीकार्य है।

कुछ पीड़ितों ने कोर्ट के इस फैसले के प्रति संतोष व्यक्त किया है। एक पीड़ित जिसने 50,000 डॉलर का निवेश किया था ने कहा- कोर्ट का फैसला सुखद है, न्याय किया गया है। एक्सेंशियल को हमें भुगतान करना होगा। यह निर्णय कि वे अब दुबई छोड़कर नहीं जा सकते हैं ये हमारे लिए अच्छा है। उसने कहा, हम अब अपने पैसे वापस चाहते हैं। कईयों ने उम्मीद खो दी है लेकिन हमें अभी भी अपने पैसे वापस मिलने की उम्मीद है।

एक अन्य निवेशक ने कहा: "यह हम सभी के लिए अच्छा है, लेकिन हमारी मुख्य चिंता हमारे पैसे वापस करना है। हमें उम्मीद है कि अदालत हमें इसमें मदद कर सकता है।" इसने 60,000 डॉलर का निवेश किया था।

एक कर्मचारी जिसने एक्सेंशियल के पांच खातों में 125,000 डॉलर का निवेश किया था, ने कहा कि कंपनी के मालिकों ने सिर्फ हमारे पैसे चोरी किए, बल्कि हमारे जीवन को भी बर्बाद कर दिया।


खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन के लम्बित प्रकरणों को समयबद्ध ढंग से निपटाये-अनिता भटनागर जैन

खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन के लम्बित...

खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन के लम्बित प्रकरणों...

मुस्लिम समाज को देश की मुख्यधारा में जोड़ने का प्रयास कर रहे इंद्रेश कुमार

मुस्लिम समाज को देश की मुख्यधारा में जोड़ने...

मुस्लिम समाज को देश की मुख्यधारा में जोड़ने का प्रयास...

विकास के पथ पर में तेजी से आगे बढ़ रहा उत्त्तर प्रदेश-वित्त मंत्री

विकास के पथ पर में तेजी से आगे बढ़ रहा उत्त्तर...

विकास के पथ पर में तेजी से आगे बढ़ रहा उत्त्तर प्रदेश-वित्त...

अखिलेश यादव  ने विभिन्न कालेजों के समाजवादी छात्रसभा के विजयी पदाधिकारियों से की भेंट

अखिलेश यादव ने विभिन्न कालेजों के समाजवादी...

अखिलेश यादव ने विभिन्न कालेजों के समाजवादी छात्रसभा...

उत्तर प्रदेश मे 30 करोड का हुआ नमक धोटाला,दो अलग अलग एजेन्सियो ने दो रेट मे खरीदे नमक

उत्तर प्रदेश मे 30 करोड का हुआ नमक धोटाला,दो...

उत्तर प्रदेश मे 30 करोड का हुआ नमक धोटाला,दो अलग...

प्रस्तावित निजी विश्वविद्यालय अधिनियम-2018 के संबंध में डा0 दिनेश शर्मा की अध्यक्षता में बैठक सम्पन्न

प्रस्तावित निजी विश्वविद्यालय अधिनियम-2018...

प्रस्तावित निजी विश्वविद्यालय अधिनियम-2018 के संबंध...

ExpressNews7