Expressnews7

अन्तर्राष्ट्रीय बाल फिल्मोत्सव में 10 लाख रुपये के नगद पुरस्कारों से सम्मानित हुई देश-दुनिया की सर्वश्रेष्ठ बाल फिल्में

अन्तर्राष्ट्रीय बाल फिल्मोत्सव में 10 लाख रुपये के नगद पुरस्कारों से सम्मानित हुई देश-दुनिया की सर्वश्रेष्ठ बाल फिल्में

2018-04-11 11:49:06
अन्तर्राष्ट्रीय बाल फिल्मोत्सव में 10 लाख रुपये के नगद पुरस्कारों से सम्मानित हुई देश-दुनिया की सर्वश्रेष्ठ बाल फिल्में

वित्तमंत्री श्री राजेश अग्रवाल ने किया अन्तर्राष्ट्रीय बाल फिल्मोत्सव के सातवें दिन का उद्घाटन, अभिनेता रजा मुराद, अभिनेत्री आशिका भाटिया एवं बाल कलाकार भावेश बालचन्दानी ने बाँधा समाँ

लखनऊ, 11 अप्रैल। सिटी मोन्टेसरी स्कूल के तत्वावधान में सी.एम.एस. कानपुर रोड आॅडिटोरियम में चल रहे ‘अन्तर्राष्ट्रीय बाल फिल्म महोत्सव (आई.सी.एफ.एफ.-2018) ’ के सातवें दिन आज देश-दुनिया की सर्वश्रेष्ठ बाल फिल्मों को 10 लाख रुपये के नगद पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। इससे पहले, मुख्य अतिथि के रूप में पधारे प्रदेश के वित्तमंत्री श्री राजेश अग्रवाल ने दीप प्रज्वलित कर बाल फिल्मोत्सव के सातवें दिन का उद्घाटन एवं पुरस्कार वितरण समारोह का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर अभिनेता रजा मुराद, अभिनेत्री आशिका भाटिया एवं बाल कलाकार भावेश बालचन्दानी ने अपनी उपस्थिति से बाल फिल्मोत्सव की रौनक में चार-चांद लगा दिये। हजारों की संख्या में उपस्थित छात्रों व युवाओं ने दिल खोलकर इन प्रख्यात हस्तियों का स्वागत किया। ज्ञातव्य हो कि छात्रों एवं युवा पीढ़ी के चरित्र निर्माण एवं सर्वांगीण विकास हेतु सी.एम.एस. के फिल्म्स डिवीजन द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय बाल फिल्म महोत्सव का आयोजन 5 से 13 अप्रैल तक सी.एम.एस. कानपुर रोड आॅडिटोरियम में किया जा रहा है, जिसके अन्तर्गत 94 देशों की बेहतरीन शिक्षात्मक बाल फिल्में निःशुल्क दिखाई जा रही हैं।

इस अवसर पर अपने संबोधन में मुख्य अतिथि श्री राजेश अग्रवाल, वित्तमंत्री, उ.प्र., बच्चे बहुत जिज्ञासु होते है और ऐसे में यदि उन्हें अच्छी चीजें देखने, पढ़ने व सुनने को मिलेगी तो वो अच्छी चीजों को ही अपना लेंगे। मुझे प्रसन्नता है कि सी.एम.एस. का यह बाल फिल्मोत्सव बच्चों के दिलो-दिमाग को अच्छाई की ओर प्रेरित कर रहा है और उन्हें समाज का आदर्श नागरिक बनने को प्रोत्साहित कर रहा है।

अन्तर्राष्ट्रीय बाल फिल्मोत्सव के प्रातःकालीन सत्र में आज देश-दुनिया की उन सर्वश्रेष्ठ बाल फिल्मों को विभिन्न वर्गों में 10 लाख रुपये के नगद पुरस्कारों से सम्मानित किया, जिन्हें विश्व के 94 देशों से प्राप्त 1510 से अधिक प्रविष्टयों में से पुरस्कार हेतु छाँटा गया। सर्वश्रेष्ठ बाल फिल्मों का चयन एक अन्तर्राष्ट्रीय ज्यूरी द्वारा किया गया, जिनमें डा. मार्गडेसी ओगेडा (केन्या),  एन्टोनियो ला कैमरा (इटली),  ग्नाना राजशेकरन (भारत),  मकरंद साठे (भारत) एवं डा. संतवाना बार्डोलोई (भारत) शामिल हैं। इसके अलावा, बाल ज्यूरी सदस्यों में डी. श्रीराम, रितिका श्रीवास्तव एवं श्रेष्ठ सिंह शामिल हैं।

बाल फिल्मोत्सव के पुरस्कार वितरण समारोह में बेस्ट चिल्ड्रेन्स फीचर फिल्म अवार्ड चीन की बाल फिल्म ‘बलाड फ्राम तिब्बत’ को दिया गया एवं इस बाल फिल्म के निर्माता-निर्देशक जैंग वी को गोल्डन ट्राफी, प्रशस्ति पत्र के साथ रु. 2,50,000/- के नगद पुरस्कार से सम्मानित किया गया, जिसमें रु. 1,25,000/- बतौर निर्देशन के लिए एवं रु. 1,25,000/- बतौर निर्माता के तौर पर प्रदान किया गया। कोरिया की बाल फिल्म ‘ड्रीम लेटर’ को ‘बेस्ट शार्ट फिक्शन अवार्ड’ से नवाजा गया। इस बाल फिल्म के निर्देशक जंग ये-बिन को एक सिल्वर ट्राफी, प्रशस्ति पत्र एवं रु. 85,000/- के नगद पुरस्कार एवं निर्माता को प्रशस्ति पत्र एवं रु. 65,000/- के नगद पुरस्कार से नवाजा गया। बेस्ट शार्ट एनीमेशन फिल्म अवार्ड जार्जिया की फिल्म ‘जेनो’ को दिया गया जबकि निर्देशक डेटो किक्नावेलिज एवं निर्माता लाली किक्नावेलिज को सिल्वर ट्राफी एवं प्रशस्ति पत्र के साथ ही क्रमशः रु. 85,000/- एवं रु. 65,000/- के नगद पुरस्कार से नवाजा गया। इसी प्रकार बेस्ट शार्ट डाक्यूमेन्ट्री फिल्म अवार्ड ईरान की बाल फिल्म ‘द गल्र्स’ को दिया गया जबकि इस बाल फिल्म के निर्देशक फेरी मलिक मदानी एवं निर्माता आर्ट कैन्ट्रा एसोसिएशन को सिल्वर ट्राफी एवं प्रशस्ति पत्र के साथ ही क्रमशः रु. 60,000/- एवं रु. 40,000/- के नगद पुरस्कार से नवाजा गया। डा. जगदीश गाँधी एवं डा. भारती गाँधी स्पेशल ज्यूरी अवार्ड आस्ट्रेलिया की बाल फिल्म ‘हालिम’ को प्रदान किया गया एवं इस बाल फिल्म के निर्माता वर्नर फेडलर को सिल्वर ट्राफी एवं प्रशस्ति पत्र के साथ ही रु. 60,000/- नगद पुरस्कार से नवाजा गया जबकि निर्माता फेडलर फिल्म्स को प्रशस्ति एवं रु. 40,000/- नगद पुरस्कार प्रदान किया गया।

पुरस्कार वितरण समारोह के उपरान्त अपरान्हः सत्र में दुनिया भर की शिक्षात्मक बाल फिल्मों के प्रदर्शन का सिलसिला प्रारम्भ हुआ, जिनमें चेन्ज योर हार्ट, मरहबा, न्यू ईयर, फ्लाई विदआउट विंग्स, रनिंग लाइट्स, फ्रोजेन प्रिंसेज, रेड वेलवेट, द बाक्स, इण्डिया शाइनिंग आदि अनेकों मनोरंजन से भरपूर उत्कृष्ट फिल्में प्रदर्शित की गई। बाल फिल्मोत्सव में आज लखनऊ के 34 स्कूलों के 12,000 से अधिक छात्रों ने शैक्षिक बाल फिल्मों का आनन्द उठाया। बाल फिल्मों का आनन्द उठाने पधारे विद्यालयों के छात्रों में द अवध स्कूल, ग्रीन क्रीसेन्ट स्कूल, आर.एल. मेमोरियल स्कूल, जे.पी. एकेडमी, हजरत मखदम शाहमीना मेमोरियल प्राइमरी स्कूल, एम.के.एस.डी. इण्टर कालेज, ए.पी. सेन मेमोरियल गल्र्स इण्टर कालेज, टिनी टाट्स इण्टर कालेज, राजकीय बालिका इण्टर कालेज, ज्योति चिल्ड्रेन्स स्कूल, शिया इण्टर कालेज, भगवान बख्श सिंह इण्टर कालेज, लिटिल फ्लावर्स कान्वेन्ट स्कूल आदि प्रमुख हैं।

अन्तर्राष्ट्रीय बाल फिल्म महोत्सव में पधारे अभिनेता रजा मुराद, अभिनेत्री आशिका भाटिया एवं बाल कलाकार भावेश बालचन्दानी एक प्रेस कान्फ्रेन्स में पत्रकारों से रूबरू हुए। पत्रकारों से बातचीत करते हुए फिल्म अभिनेता श्री रजा मुराद ने कहा कि यह अन्तर्राष्ट्रीय बाल फिल्मोत्सव बच्चों के साथ ही अभिभावकों व शिक्षकों को भी सकारात्मक दृष्टिकोण अपनाने हेतु प्रेरित करने में मददगार है। अभिनेत्री आशिका भाटिया एवं बाल कलाकार भावेश बालचन्दानी ने कहा कि यह बाल फिल्म महोत्सव एक ऐतिहासिक अवसर है जो छात्रों को एवं खासकर युवा पीढ़ी को चरित्र निर्माण एवं सर्वांगीण विकास की प्रेरणा दे रहा है। आई.सी.एफ.एफ.-2018 के फेस्टिवल डायरेक्टर श्री वी. कुरियन ने बताया कि बाल फिल्मोत्सव के आठवें दिन का उद्घाटन कल 12 अप्रैल, वृहस्पतिवार को प्रातः 9.00 बजे सी.एम.एस. कानपुर रोड आॅडिटोरियम में होगा। प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री सिद्धार्थ नाथ सिंह इस अवसर पर मुख्य अतिथि होंगे जबकि कामेडियन श्री दीपू श्रीवास्तव, अभिनेता मुकेश खन्ना एवं बाल कलाकार अमय पाण्डया बच्चों के उत्साहवर्धन हेतु मौजूद रहेंगे।


निशुल्क योग शिविरों में योग के साथ साथ होगी क्षेत्रीय विकास पर चर्चा

निशुल्क योग शिविरों में योग के साथ साथ...

निशुल्क योग शिविरों में योग के साथ साथ होगी क्षेत्रीय...

सेप्टेज एवं ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए नीति बनायी जायेगी---सुरेश खन्ना

सेप्टेज एवं ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए...

सेप्टेज एवं ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए नीति बनायी...

लोक अदालत के सफल आयोजन की जिम्मेदारी न्यायिक अधिकारियों की -ब्रजेश पाठक

लोक अदालत के सफल आयोजन की जिम्मेदारी न्यायिक...

लोक अदालत के सफल आयोजन की जिम्मेदारी न्यायिक अधिकारियों...

आज और कल सिद्धार्थ नाथ सिंह रायबरेली एवं इलाहाबाद दौरे पर रहेंगे

आज और कल सिद्धार्थ नाथ सिंह रायबरेली एवं...

आज और कल सिद्धार्थ नाथ सिंह रायबरेली एवं इलाहाबाद...

मरीजों एवं तीमारदारों हेतु पेयजल की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित की जाय

मरीजों एवं तीमारदारों हेतु पेयजल की समुचित...

मरीजों एवं तीमारदारों हेतु पेयजल की समुचित व्यवस्था...

खादी ग्रामोद्योग विभाग द्वारा शुरू किया जा रहा है हनी मिशन-- नवनीत सहगल

खादी ग्रामोद्योग विभाग द्वारा शुरू किया...

खादी ग्रामोद्योग विभाग द्वारा शुरू किया जा रहा...

ExpressNews7