Expressnews7

आईसीआईसीआई बैंक की लोन बुक बड़ी , माहेश्वरी से ख़ास बातचीत

आईसीआईसीआई बैंक की लोन बुक बड़ी , माहेश्वरी से ख़ास बातचीत

2018-04-12 07:02:43
 आईसीआईसीआई बैंक की लोन बुक बड़ी , माहेश्वरी से ख़ास बातचीत

निवेशक आईसीआईसीआई बैंक की कुछ अच्छाइयों की अनदेखी कर रहे हैं। यह देश के बड़े बैंकों में से एक है। इसकी लोन बुक काफी बड़ी है और CASA भी 40 पर्सेंट से ज्यादा है। बैंक के शेयर बेहद आकर्षक वैल्यूएशन पर मिल रहे हैं

हम एनबीएफसी पर बहुत पॉजिटिव हैं। उन्हें दो चीजों से फायदा हो रहा है। पहली बात तो यह है कि उनकी ग्रोथ मार्केट से काफी तेज है। अधिकतर एनबीएफसी की ग्रोथ 20 पर्सेंट से अधिक बनी हुई है। दूसरी बात यह है कि बैड लोन की वजह से सरकारी बैंकों ने जो जगह खाली की है, उससे एनबीएफसी को बिजनेस बढ़ाने का मौका मिला है

मुझे लगता है कि पोर्टफोलियो का बड़ा हिस्सा डिफेंसिव सेक्टर में होना चाहिए। आईटी और एफएमसीजी कंपनियों के अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद है। प्राइवेट बैंकों से भी बढ़िया रिटर्न मिल सकता है। मुझे लगता है कि ग्रोथ के लिए आपको एनबीएफसी पर ओवरवेट होना चाहिए

इडलवाइज सिक्योरिटीज में इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज के हेड निश्चल माहेश्वरी ने दिए इंटरव्यू में बताया कि निवेशकों को अपने पोर्टफोलियो का बड़ा हिस्सा आईटी, एफएमसीजी और प्राइवेट बैंक जैसे डिफेंसिव सेक्टर्स में रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि ग्रोथ के लिए आप एनबीएफसी पर ओवरवेट हो सकते हैं और कमोडिटी स्टॉक्स में भी पैसा लगाने के बारे में सोचा जा सकता है। इसमें खासतौर पर मेटल स्टॉक्स बढ़िया हैं। पेश हैं इंटरव्यू के खास अंश:

निवेशक आईसीआईसीआई बैंक की कुछ अच्छाइयों की अनदेखी कर रहे हैं। यह देश के बड़े बैंकों में से एक है। इसकी लोन बुक काफी बड़ी है और कासा (करेंट एकाउंट और सेविंग एकाउंट) भी 40 पर्सेंट से ज्यादा है। इन फैक्ट्स को इग्नोर नहीं किया जा सकता। इसके साथ बैंक के शेयर बेहद आकर्षक वैल्यूएशन पर मिल रहे हैं। इसमें कोर बुक वैल्यू के 0.8 गुना पर ट्रेडिंग हो रही है। लॉन्ग टर्म इनवेस्टर्स को अभी इसमें पैसा लगाना चाहिए। जिस तरह के विवाद का बैंक सामना कर रहा है, ऐसी ही घटनाओं के वक्त आपको कम वैल्यूएशन पर ऐसे शेयरों में बड़ी पोजिशन लेने में मदद मिलती है। आईसीआईसीआई बैंक में धीरे-धीरे निवेश शुरू करिए। अगर बुरी खबरों की वजह से शेयर की और पिटाई होती है तो आप इसमें निवेश बढ़ा सकेंगे।

क्या आपको लगता है कि कॉरपोरेट बैंकों से समय-समय पर अच्छा रिटर्न मिलता रहेगा, लेकिन रिटेल बैंकिंग पर फोकस करने वाले बैंकों से अच्छा पैसा बनेगा?

पिछले दो-तीन साल से ऐसा ही हो रहा है। पब्लिक सेक्टर के कॉरपोरेट बैंकों में कुछ और गिरावट आ सकती है, लेकिन प्राइवेट सेक्टर के कॉरपोरेट बैंकों में मुझे और करेक्शन की संभावना नहीं दिख रही है। असर में यह इस तरह के स्टॉक्स में निवेश करने का अच्छा समय है।

कॉरपोरेट बैंकों में मैं सरकारी और प्राइवेट बैंकों को अलग-अलग कैटेगरी में रखना चाहूंगा। जहां तक प्राइवेट सेक्टर की बात है, मैं इस पर ध्यान दूंगा कि मैनेजमेंट क्या कह रहा है। इन बैंकों की रिकवरी मजबूत रहने वाली है और उन्होंने एनसीएलटी वाले मामलों के लिए जो प्रोविजनिंग की थी, वह पैसा फिर से मुनाफे में जुड़ने लगेगा। सरकारी बैंकों को अभी एसडीआर, एस4ए जैसी स्कीम्स के लिए प्रोविजनिंग करनी है। इनके लिए उन्होंने 30 से 40 पर्सेंट की प्रोविजनिंग की है। मुझे लगता है कि उन्हें और 10 से 15 पर्सेंट की प्रोविजनिंग करनी पड़ेगी। सरकारी बैंकों में आपको आंकड़ों पर ध्यान देना चाहिए, जबकि प्राइवेट बैंकों के मामले में यह देखना चाहिए कि उनका मैनेजमेंट क्या कह रहा है।

आईटी कंपनियों के मार्च तिमाही के रिजल्ट अच्छे नहीं रहेंगे। पिछली तिमाही में ज्यादातर कंपनियों ने कहा था कि डिमांड बढ़ रही है। मुझे लगता है कि मार्च तिमाही की कमेंटरी में भी यह बात सुनने को मिलेगी। मुझे लगता है कि आईटी कंपनियों की डॉलर में ग्रोथ 2 से 3 पर्सेंट रह सकती है। मार्च तिमाही में बाजार की नजर इस पर होगी कि अगले वित्त वर्ष को लेकर आईटी कंपनियां कैसा अनुमान देती हैं।

हम एनबीएफसी पर बहुत पॉजिटिव हैं। उन्हें दो चीजों से फायदा हो रहा है। पहली बात तो यह है कि उनकी ग्रोथ मार्केट से काफी तेज है। अधिकतर एनबीएफसी की ग्रोथ 20 पर्सेंट से अधिक बनी हुई है। दूसरी बात यह है कि बैड लोन की वजह से सरकारी बैंकों ने जो जगह खाली की है, उससे एनबीएफसी को बिजनेस बढ़ाने का मौका मिला है।

वित्त वर्ष की शुरुआत में सब कंपनियों के मुनाफे में 20 पर्सेंट ग्रोथ की उम्मीद कर रहे हैं, लेकिन हाल में निफ्टी में शामिल कंपनियों का जो रिकॉर्ड रहा है, उसे देखकर लगता है कि इस साल प्रॉफिट ग्रोथ 12-15 पर्सेंट रह सकती है। मुझे लगता है कि पोर्टफोलियो का बड़ा हिस्सा डिफेंसिव सेक्टर में होना चाहिए। आईटी और एफएमसीजी कंपनियों के अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद है। प्राइवेट बैंकों से भी बढ़िया रिटर्न मिल सकता है। मुझे लगता है कि ग्रोथ के लिए आपको एनबीएफसी पर ओवरवेट होना चाहिए।


गोरखपुर में मुख्यमंत्री ने ‘आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना’ का किया शुभारम्भ

गोरखपुर में मुख्यमंत्री ने ‘आयुष्मान...

गोरखपुर में मुख्यमंत्री ने ‘आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री...

स्वच्छता को जीवन का अनिवार्य अंग बनायें-नगर विकास मंत्री

स्वच्छता को जीवन का अनिवार्य अंग बनायें-नगर...

स्वच्छता को जीवन का अनिवार्य अंग बनायें-नगर विकास...

 वैश्विक शिखर सम्मेलन-2018 के आयोजन के संबंध में रोडमैप तैयार करने पर हुई चर्चा

वैश्विक शिखर सम्मेलन-2018 के आयोजन के संबंध...

वैश्विक शिखर सम्मेलन-2018 के आयोजन के संबंध में रोडमैप...

यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 7 फरवरी से

यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 7 फरवरी...

यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 7 फरवरी से

कैराना उपचुनाव लडने की पेशकश BJP ने की थी

कैराना उपचुनाव लडने की पेशकश BJP ने की थी

कैराना उपचुनाव लडने की पेशकश BJP ने की थी

राष्ट्रीय पुस्तक मेला और धानी चुनरिया के तत्वाधान में हुआ सांस्कृतिक कार्यक्रम

राष्ट्रीय पुस्तक मेला और धानी चुनरिया...

राष्ट्रीय पुस्तक मेला और धानी चुनरिया के तत्वाधान...

ExpressNews7