Expressnews7

एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम की तीन दिवसीय राष्ट्रीय समीक्षा कार्यशाला का हुआ शुभारम्भ

एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम की तीन दिवसीय राष्ट्रीय समीक्षा कार्यशाला का हुआ शुभारम्भ

2018-05-03 17:41:11
एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम की तीन दिवसीय राष्ट्रीय समीक्षा कार्यशाला का हुआ शुभारम्भ

संक्रामक रोगों की रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु स्टेट आउटब्रेक रिपोर्टिंग सिस्टम सोर्स तथा हेल्थ जियोग्राफिकल इनफार्मेशन सिस्टम की वेबसाइट लान्च
संचारी रोगों की दैनिक निगरानी के लिए रिपोर्टिंग पोर्टल शीघ्र होगा पुनर्गठित
लखनऊ:-प्रमुख सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण प्रशान्त त्रिवेदी द्वारा आज गोमती नगर स्थित हयात होटल में ‘एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम (आईडीएसपी)’ की तीन दिवसीय राष्ट्रीय समीक्षा कार्यशाला का उद्घाटन किया गया। उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम में देश के समस्त राज्यों एवं केन्द्रशासित प्रदेशों के प्रतिनिधियों द्वारा प्रतिभाग किया जा रहा है। यह पहला अवसर है जब उत्तर प्रदेश को इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम की मेजबानी का अवसर प्राप्त हुआ है।
श्री त्रिवेदी ने बताया कि तीन दिनों तक चलने वाली इस राष्ट्रीय समीक्षा कार्यशाला में विभिन्न राज्यों के कार्यक्रम अधिकारी अपने राज्य की आईडीएसपी संबंधी गतिविधियों के प्रस्तुतिकरण के साथ ही संचारी रोगों के नियंत्रण एवं उन्मूलन हेतु किये जा रहे सकारात्मक प्रयासों को साझा करेंगे। इसके अतिरिक्त प्रयोगशालाओं के सुदृढ़ीकरण एवं भविष्य में आने वाली जन स्वास्थ्य संबंधित नई चुनौतियों के बारे में भी चर्चा की जायेगी।
उन्होंने बताया कि वर्तमान में आईडीएसपी की नई दिल्ली स्थित केन्द्रीय निगरानी इकाई के साथ ही देश के समस्त राज्यों एवं जनपदों में क्रमशः राज्य निगरानी इकाई एवं जिला निगरानी इकाई की स्थापना की गई है। इन निगरानी इकाईयों के माध्यम से इस समय 18 संचारी रोगों की निरन्तर निगरानी की जा रही है, जिसे भविष्य में 33 रोगों तक बढ़ाया जायेगा। उन्होंने यह भी कहा कि आईडीएसपी रिपोर्टिंग पोर्टल द्वारा जन स्वास्थ्य की साप्ताहिक निगरानी रखी जाती है। शीघ्र ही रोगों की दैनिक रूप से निगरानी करने के लिए रिपोर्टिंग पोर्टल को पुनर्गठित कर लिया जायेगा।
उद्घाटन सत्र के दौरान श्री त्रिवेदी द्वारा संक्रामक रोगों के रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए उत्तर प्रदेश द्वारा किये गये अभिनव प्रयोगों, स्टेट आउटब्रेक रिपोर्टिंग सिस्टम सोर्स तथा हेल्थ जियोग्राफिकल इनफार्मेशन सिस्टम की वेबसाइट https://hgis.uphssp.org.in  का भी उद्घाटन किया गया। इस अवसर पर आईडीएसपी की वार्षिक रिपोर्ट एवं kyasanur Forest Disease हेतु Communicable Disease Alert समतज का भी विमोचन किया गया।
इसके अतिरिक्त जापानी इनसेफेलाइटिस/दिमागी बुखार की रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु उ0प्र0 सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयासों का भी प्रदर्शन किया गया, जिसकी कार्यशाला में उपस्थित प्रतिभागियों द्वारा सराहना की गई।
कार्यशाला में केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार के प्रमुख सलाहकार डा. एन.एस. धर्मशक्तू, सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण श्रीमती वी.हेकाली झिमोमी, निदेशक राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केन्द्र नई दिल्ली डा. एस.के. सिंह, महानिदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं डा. पद्माकर सिंह, निदेशक संचारी रोग डा. मिथलेश चतुर्वेदी, विश्व स्वास्थ्य संगठन के वरिष्ठ तकनीकी सलाहकार डा. रमेश कृष्णमूर्ति उपस्थित रहे।


प्रदेश में मिट्टी का कार्य करने वाले कारीगरों के सामाजिक व आर्थिक विकास में वृद्धि करना बोर्ड का मुख्य उद्देश्य- नवनीत सहगल

प्रदेश में मिट्टी का कार्य करने वाले कारीगरों...

प्रदेश में मिट्टी का कार्य करने वाले कारीगरों...

ये क्या ? थानेदार ने अपने ही खिलाफ दर्ज कराई शिकायत...

ये क्या ? थानेदार ने अपने ही खिलाफ दर्ज कराई...

ये क्या ? थानेदार ने अपने ही खिलाफ दर्ज कराई शिकायत...

संभल में मानवता को शर्मशार करने वाली एक और घटना घटी

संभल में मानवता को शर्मशार करने वाली एक...

संभल में मानवता को शर्मशार करने वाली एक और घटना...

परिवार नियोजन को घर-घर तक पहुंचाने में बदलाव लाने का काम कर रही हैं पूजा देवी

परिवार नियोजन को घर-घर तक पहुंचाने में...

परिवार नियोजन को घर-घर तक पहुंचाने में बदलाव लाने...

डॉक्टर को धमकाकर ₹20 हजार वसूलने वाले महिला सहित दो फर्जी पत्रकारों को पुलिस ने पकड़ा

डॉक्टर को धमकाकर ₹20 हजार वसूलने वाले महिला...

डॉक्टर को धमकाकर ₹20 हजार वसूलने वाले महिला सहित...

महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों को रोकने के लिए शिक्षा  एक रामबाण उपाय है- राज्यपाल

महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों को रोकने...

महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों को रोकने के...

ExpressNews7