Expressnews7

मुख्यमंत्री ने गांवों को खुले में शौचमुक्त होने पर ग्राम प्रधानों को प्रोत्साहन राशि तथा प्रमाण पत्र प्रदान किए

मुख्यमंत्री ने गांवों को खुले में शौचमुक्त होने पर ग्राम प्रधानों को प्रोत्साहन राशि तथा प्रमाण पत्र प्रदान किए

2018-06-10 17:34:58
मुख्यमंत्री ने गांवों को खुले में शौचमुक्त होने पर ग्राम प्रधानों को प्रोत्साहन राशि तथा प्रमाण पत्र प्रदान किए

लखनऊ-उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ पात्र लाभार्थियों को भेदभाव रहित एवं पारदर्शी तरीके से मुहैया कराए जाने में ग्राम प्रधानों को सक्रिय भूमिका का निर्वहन किए जाने पर जोर देते हुए कहा है कि वे अपनी ग्राम सभाओं को आदर्श गांव बनाएं। ग्रामीण जनता और जनप्रतिनिधिगण यदि जागरूक हो जाएं, तो गांव की तस्वीर बदलने में समय नहीं लगेगा। उन्होंने कहा कि ग्रामीण जनता की शिकायत एवं समस्याओं का समाधान गांव स्तर पर ही किया जाए। इसके लिए ग्राम प्रधानों द्वारा गांव में प्रत्येक महीने के एक दिन ग्राम समाधान दिवस आयोजित किया जाए। इससे ग्रामवासियों की समस्याएं गांव स्तर पर ही निस्तारित हो सकंेगी और उन्हें बेवजह तहसील एवं जिला मुख्यालयों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे।
मुख्यमंत्री आज अपने वाराणसी दौरे के दूसरे एवं अन्तिम दिन बड़ालालपुर स्थित पं0 दीनदयाल हस्तकला संकुल में ग्राम स्वराज अभियान एवं स्वच्छ भारत मिशन के तहत आयोजित ‘ग्राम प्रधान संवाद’ कार्यक्रम में 760 ग्राम प्रधानों एवं पंचायत सदस्यों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आजादी के 60 वर्षों से कहीं अधिक जनकल्याणकारी योजनाएं प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के 4 वर्ष के कार्यकाल में चलायी गयी हैं।
मुख्यमंत्री ने ग्राम प्रधानों से अपील करते हुए कहा कि विकास का कोई विकल्प नहीं हो सकता है। यदि जनप्रतिनिधि की छवि विकासपरक नहीं होगी, तो धीरे-धीरे उसकी लोकप्रियता समाप्त हो जाएगी। उन्होंने कहा कि ग्राम प्रधान शासन द्वारा संचालित विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाआंे का लाभ पात्र लोगों को मुहैया कराने में अपनी सहभागिता सुनिश्चित करें। जब तक गांव की सरकार जागरूक नहीं होगी, तब तक शासन की इन योजनाओं को पूरी तरह सफलता नहीं मिलेगी। उन्होंने जनपद सिद्धार्थनगर के हसुड़ी औसानपुर का उदाहरण देते हुए बताया कि जब सिद्धार्थनगर का हसुड़ी औसानपुर स्मार्ट गांव हो सकता है, तो वाराणसी की ग्राम सभाएं क्यों नहीं।
मुख्यमंत्री जी ने ग्राम सभाओं में पेयजल आपूर्ति की समस्या को हर स्तर पर समाप्त किए जाने पर जोर देते हुए कहा कि ग्राम सभाओं में लगे हैण्डपम्पों की मरम्मत एवं रिबोर कराए जाने का अधिकार ग्राम प्रधानों को मुहैया कराया गया है। ऐसी स्थिति में गांव का कोई भी हैण्डपम्प बंद नहीं रहना चाहिए। उन्होंने ग्राम सभाओं में पब्लिक एड्रेस सिस्टम एवं सी0सी0टी0वी0 कैमरा लगवाए जाने हेतु भी ग्राम प्रधानों से अपील की। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायतें आर्थिक रूप से बहुत सशक्त हैं। ग्राम प्रधानों की सक्रियता से गांवों की तस्वीर बदल सकती है।
मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के महत्वपूर्ण कार्यक्रम स्वच्छ भारत मिशन की चर्चा करते हुए कहा कि इस अभियान में ग्राम प्रधानों की भूमिका महत्वपूर्ण हो सकती है। उन्होंने गांवों में स्वच्छता कार्यक्रम को प्रभावी रूप से लागू करने तथा अपने-अपने ग्राम सभाओं को खुले में शौचमुक्त किए जाने हेतु भी ग्राम प्रधानों से अपील की।
मुख्यमंत्री ने वर्तमान केन्द्र सरकार के 04 वर्ष के कार्यकाल में संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि जनधन योजना के तहत 32 करोड़ परिवारों के बैंक खाते खुलवाए गए हैं। उन्होंने बताया कि देश में 8 करोड़ एवं उत्तर प्रदेश में 72 लाख 50 हजार गरीब परिवारों को निःशुल्क गैस कनेक्शन उपलब्ध कराए गए हैं। युवाओं को स्वावलम्बी बनाने हेतु प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, स्किल डेवलेपमेण्ट और स्टार्टअप इण्डिया योजनाओं के तहत बैकों द्वारा 10 लाख रुपए तक का ऋण आसानी से मुहैया कराया जा रहा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का सपना है कि वर्ष 2022 तक हर गरीब को मकान मुहैया कराया जाए। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत काफी तेजी से गरीबों के लिए आवासों का निर्माण कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में अब तक 46 लाख गरीब परिवारों को निःशुल्क विद्युत कनेक्शन दिए गए हैं। इतना ही नहीं गांवों में 72 लाख शौचालयों के रूप में ‘इज्जतघर’ का निर्माण कराया गया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पं0 दीनदयाल उपाध्याय जी के अन्त्योदय की परिकल्पना को साकार करने के लिए ग्राम स्वराज अभियान संचालित किया गया है। ग्रामीण जनता के हितों के बारे में निर्णय लेने तथा शासन की योजनाओं का लाभ लोगों तक पहुंचाना इस अभियान का उद्देश्य है। उन्होंने कहा कि सरकार गांव के व्यक्ति तक पहुंचेगी। ग्राम स्वराज अभियान के पहले चरण में देश के 21,500 एवं उत्तर प्रदेश के 3,387 गांवों का चयन किया गया था। इन ग्राम सभाओं में शत-प्रतिशत लोगों तक शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाया जा रहा है। इस अभियान के दूसरे चरण में उत्तर प्रदेश के 13,500 ग्राम सभाओं का चयन किया गया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान केन्द्र सरकार के 4 साल के कार्यकाल में देश विकास की नई ऊँचाइयों पर पहुंचा है। भारत दुनिया की बढ़ती अर्थव्यवस्था में शक्तिशाली राष्ट्र के रूप उभरा है, जिसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी को जाता है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार के 4 साल के कार्यकाल में देश की बाह्य एवं आन्तरिक सुरक्षा मजबूत हुई है। पड़ोसी देशों से सम्बन्ध बेहतर हुए हैं और देश सामरिक शक्ति के रूप में उभर रहा है।
मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के विकास कार्यों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि 04 साल की अवधि में 1545 करोड़ रुपए की विकास योजनाएं पूर्ण हो चुकी हैं और 11,400 करोड़ रुपए की विकास योजनाएं इस वर्ष के अन्त तक पूरी हो जाएंगी। उन्होंने शनिवार को अपने काशीवास के दौरान की 84 कोसी पंचक्रोसी परिक्रमा की चर्चा करते हुए कहा कि पुरुषोत्तम मास में इसका बहुत महत्व है। उन्होंने श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधा मुहैया कराए जाने हेतु पूरे परिक्रमा मार्ग का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि पूरे पंचक्रोसी परिक्रमा मार्ग के चैड़ीकरण, सुदृढ़ीकरण एवं सौन्दर्यीकरण का कार्य सरकार ने अपने हाथ में लिया है और इसके लिए 101 करोड़ रुपए की धनराशि स्वीकृत की गई है। इससे परिक्रमा के पांचों पड़ावों के विकास सहित बुनियादी सुविधाएं बढ़ायी जाएंगी।
इससे पूर्व, मुख्यमंत्री जी ने गांवों को खुले में शौचमुक्त होने पर ग्राम प्रधान विनय कुमार सिंह (पिण्डरा),  दीपक सिंह (बड़ागांव), संजय कुमार (हरहुआ), सुश्री शीला देवी (चोलापुर),रामप्रसाद (सेवापुरी), सुश्री मीना कुमारी (अराजीलाइन), सुश्री मुनक्का देवी (काशीविद्यापीठ) एवं अनमोल (चिरईगांव) को 4000 रुपए की प्रोत्साहन राशि तथा प्रमाण पत्र प्रदान किए। इसके अलावा, काशीविद्यापीठ के प्रधान  रामदुलार यादव एवं सेवापुरी के  अनिल कुमार पटेल को पं0 दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण योजनान्तर्गत प्रमाण पत्र प्रदान किया गया।
कार्यक्रम के दौरान कमिश्नर  दीपक अग्रवाल तथा जिलाधिकारी  योगेश्वर राम मिश्र ने मुख्यमंत्री  का स्वागत करते हुए शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं एवं विकास कार्यक्रमों को शासन की मंशा के अनुरूप पारदर्शिता सहित निर्धारित समय सीमा में पूरा कराए जाने का भरोसा दिया।
इस अवसर पर जनप्रतिनिधिगण, शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी एवं बड़ी संख्या में ग्राम प्रधान व पंचायत सदस्य उपस्थित थे।
इससे पूर्व, मुख्यमंत्री  ने रविवार को सुबह  कैलाश केसरी, वरिष्ठ अधिवक्ता राधेश्याम चैबे, साहित्यकार सुरेन्द्र प्रताप सिंह, ज्योतिषाचार्य डाॅ0 चन्द्रमौलि उपाध्याय एवं वरिष्ठ चिकित्सक डाॅ0 चूड़ामणि के आवास पर जाकर उनसे भेंट की।


केरल की सहायता के लिए मुख्यमंत्री योगी भेजेगी जरूरी सामान

केरल की सहायता के लिए मुख्यमंत्री योगी...

केरल की सहायता के लिए मुख्यमंत्री योगी भेजेगी...

प्रदेश के समस्त जनपदों की मुख्य नदियों में विसर्जित की जाएंगी अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां-मुख्यमंत्री

प्रदेश के समस्त जनपदों की मुख्य नदियों...

प्रदेश के समस्त जनपदों की मुख्य नदियों में विसर्जित...

लोकसभा और चार राज्यों में चुनाव दिसंबर में एक साथ कराने में आयोग सक्षम- चुनाव आयुक्त

लोकसभा और चार राज्यों में चुनाव दिसंबर...

लोकसभा और चार राज्यों में चुनाव दिसंबर में एक साथ...

जैसे-जैसे चुनाव की तिथियां नजदीक आ रही हैं, भाजपा नेतृत्व की घबराहट बढ़ती जा रही है- अखिलेश यादव

जैसे-जैसे चुनाव की तिथियां नजदीक आ रही...

जैसे-जैसे चुनाव की तिथियां नजदीक आ रही हैं, भाजपा...

A.D से हो रहा है महाराजगंज मे भष्ट्राचार,नदियो की गहराई और परकोपाइन मे है लम्बा धालमेल

A.D से हो रहा है महाराजगंज मे भष्ट्राचार,नदियो...

A.D से हो रहा है महाराजगंज मे भष्ट्राचार,नदियो की...

 उ0प्र0 में देश का सबसे बड़ा ‘वर्कफोर्स’ मौजूद: राष्ट्रपति

उ0प्र0 में देश का सबसे बड़ा ‘वर्कफोर्स’ मौजूद:...

उ0प्र0 में देश का सबसे बड़ा ‘वर्कफोर्स’ मौजूद: राष्ट्रपति

ExpressNews7