Expressnews7

परिवार नियोजन को घर-घर तक पहुंचाने में बदलाव लाने का काम कर रही हैं पूजा देवी

परिवार नियोजन को घर-घर तक पहुंचाने में बदलाव लाने का काम कर रही हैं पूजा देवी

2018-07-11 11:16:52
परिवार नियोजन को घर-घर तक पहुंचाने में बदलाव लाने का काम कर रही हैं पूजा देवी

पूजा देवी अपने क्षेत्र परिवार नियोजन को घर-घर तक पहुंचाने में बदलाव लाने का काम कर रही हैं। ज्ञात हो कि पूजा देवी जनपद महराजगंज के सदर विकास खण्ड के ग्राम मुजहना की रहने वाली है। वह महिलाओं के संगठन नारी संघ की जिलाध्यक्ष हैं। इनके संगठन में लगभग 10000 महिलायें जुड़ी हुई हैं। नारी संघ के साथ जुड़कर वर्ष 2008 से महिलाओं के हक तथा अधिकारो के लिये वह गांव, जिला, राज्य स्तर तक पैरवी कर चुकी हैं। सृष्टि सेवा संस्थान, महाराजगंज के द्वारा परिवार नियोजन के लिये पहल के साथ इन्हे जुड़ने का अवसर मिला। इस दौरान उन्हे परिवार नियोजन के महत्व, परिवार नियोजन महलाओं के अधिकार से जुड़ा मुद्दा है, यह महिलाओं तथा स्वास्थ्य का मुद्दा पर समझ बनी।

पूजा देवी ने परिवार नियोजन पर कार्य की शुरूआत नारी संघ बैठकों में जागरूकता व संवेदीकरण से की। जिससे कि लोगों की समझ में कुछ परिवर्तन देखने को मिला। परन्तु परिवार नियोजन अपनाने वाले लोगों की संख्या में कोई बढ़ोत्तरी नहीं हुई। ऐसी स्थिति में पूजा देवी ने सिसवा बाबू मुजहना खुर्द को परिवार नियोजन को बढ़ावा देने के लिये चुना। उन्होने वहां की आशा श्रीमती रेनू सिंह से इस संदर्भ में बात की और दोनो मिलकर घर-घर जाकर परिवार नियोजन व साधनों के लिये बताती। इस दौरान उन्होंने परिवार नियोजन व साधनों के बारे स्थापित विभिन्न भ्रान्त्यिों के बारे में जाना तथा उससे रूबरू हुई। लोग उन्हें बताते कि काॅपर टी लगवाने से कैंसर हो जाता है, खून बहुत बहता है, सभी को सूट नहीं करता है, पुरूष नंसबंदी से पुरूष नपुंसक हो जाता है आदि। परन्तु उन्होने हार नहीं मानी और विभिन्न स्थानीय उदाहरण उनके सामने रखती तथा ऐसा करने से कैसे उनके परिवार के स्वास्थ्य का खर्चा कम होगा, महिला व बच्चा स्वस्थ्य रहेगा, आर्थिक तंगी कम होगी आदि से जोड़कर सहज करती। जिसका परिणाम यह रहा कि उस गांव की 3 महिलाओं की नसबंदी करवाई और 132 महिलायें परिवार नियोजन के विभिन्न साधन जैसे काॅपर टी, ओरल पिल्स का उपयोग कर रही हैं। इस सफलता ने उन्हे और प्रोत्साहित किया जिससे अब तक विभिन्न गांवो से अब तक 9 पुरूष नसबंदी, 156 महिला नसबंदी करवा चुकी हैं।

पूजा देवी के अनुसार सिसवा बाबू मुजहना खुर्द गांव में लगभग 80 प्रतिशत परिवार किसी न किसी परिवार नियोजन साधन का अपना रहे हैं। वहां के ग्राम प्रधान बब्लू जी कहते हैं कि पूजा के प्रयासों से ही यहां की महिलाओं का विकास हुआ है और परिवार नियोजन के लिये इनके प्रयास सराहनीय है। जिस प्रकार वह नियमित रूप से लोगों से मिलकर काम करती उसी का नतीजा हैं कि लोग परिवार नियोजन के साधनों का अपना रहे हैं। आशा श्रीमती रेनू सिंह बताती हैं कि पूजा का सहयोग व साथ मिलने से वह लोगों से बात करने में सफल हो पायी। जो सेवायें लोगों तक नहीं पहुचती थी लोग अब परिवार नियोजन के साधनों की मांग कर रहे हैं, ग्राम स्वास्थ्य पोषण दिवस पर आकर परिवार नियोजन की चर्चा करते हैं।

पूजा का मानना है कि यदि परिवार नियोजन को अपनाया जायेगा तो हम गरीबी तथा स्वास्थ्य जैसी समस्याओं से लड़ पायेंगे।


स्वच्छता को जीवन का अनिवार्य अंग बनायें-नगर विकास मंत्री

स्वच्छता को जीवन का अनिवार्य अंग बनायें-नगर...

स्वच्छता को जीवन का अनिवार्य अंग बनायें-नगर विकास...

 वैश्विक शिखर सम्मेलन-2018 के आयोजन के संबंध में रोडमैप तैयार करने पर हुई चर्चा

वैश्विक शिखर सम्मेलन-2018 के आयोजन के संबंध...

वैश्विक शिखर सम्मेलन-2018 के आयोजन के संबंध में रोडमैप...

यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 7 फरवरी से

यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 7 फरवरी...

यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 7 फरवरी से

कैराना उपचुनाव लडने की पेशकश BJP ने की थी

कैराना उपचुनाव लडने की पेशकश BJP ने की थी

कैराना उपचुनाव लडने की पेशकश BJP ने की थी

राष्ट्रीय पुस्तक मेला और धानी चुनरिया के तत्वाधान में हुआ सांस्कृतिक कार्यक्रम

राष्ट्रीय पुस्तक मेला और धानी चुनरिया...

राष्ट्रीय पुस्तक मेला और धानी चुनरिया के तत्वाधान...

घमण्ड में चूर है  भाजपा सरकार- अखिलेश यादव

घमण्ड में चूर है भाजपा सरकार- अखिलेश यादव

घमण्ड में चूर है भाजपा सरकार- अखिलेश यादव

ExpressNews7