Expressnews7

भूजल संसाधनों को संरक्षित रखने में एकजुट होना होगा-प्रो. एस.पी. सिंह बघेल

भूजल संसाधनों को संरक्षित रखने में एकजुट होना होगा-प्रो. एस.पी. सिंह बघेल

2018-07-21 16:57:51
भूजल संसाधनों को संरक्षित रखने में एकजुट होना होगा-प्रो. एस.पी. सिंह बघेल

लखनऊ--प्रदेश के लघु सिंचाई एवं भूगर्भ जल मंत्री प्रो. एस.पी. सिंह बघेल ने कहा है कि भूगर्भ जल संरक्षण की दिशा में ठोस कार्यक्रम चलाये जाने और गिरते हुए भूजल स्तर के संकट से निपटने के लिए ‘अण्डर ग्राउण्ड वाटर एक्ट’ लाया जायेगा। उन्होंने कहा कि हमें वर्तमान एवं भविष्य के भूजल संकट को देखते हुए विस्तृत एवं प्रभावी रूपरेखा तैयार करनी होगी, तभी हम इस प्राकृतिक संसाधन को सुरक्षित एवं संरक्षित रख सकेंगे। उन्होंने कहा कि वर्षा जल संचयन, भूगर्भ जल रिचार्ज व एक्यूफर प्रबन्धन सरकार की प्राथमिकताओं में है।
प्रो. बघेल आज यहां ‘‘भूजल सप्ताह‘‘ के अवसर पर गोमती नगर स्थित इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित ‘राज्य स्तरीय समारोह‘ को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। उन्होंने भूजल संरक्षण के क्षेत्र में प्रोत्साहन देने के लिए राज्य स्तरीय एवं जिला स्तरीय पुरस्कार दिये जाने की योजना बनाये जाने पर बल दिया।
उन्होंने कहा कि आम जनता को भूजल का महत्व समझते हुए भूजल संसाधनों को संरक्षित रखने में एकजुट होना होगा। अपनी दिनचर्या में पानी का दुरूपयोग और भूगर्भ जल के अंधाधुंध दोहन को नियंत्रित करने के साथ ही वर्षा जल को संरक्षित करना होगा।
भूगर्भ जल मंत्री ने कहा कि प्रदेश में विश्व बैंक द्वारा पोषित उत्तर प्रदेश वाटर सेक्टर रीस्ट्रक्चरिंग परियोजना, द्वितीय चरण एवं नेशनल हाइड्रोलाजी प्रोजेक्ट के अन्तर्गत भूजल अनुश्रवण प्रणाली के सुदृढ़ीकरण एवं भूजल मापन में आधुनिक तकनीकों का समावेश करने के कार्य भी किये जा रहे हैं। प्रदेश के बुन्देलखण्ड एवं पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अत्यधिक संकटग्रस्त विकासखण्डों में केन्द्र सरकार द्वारा भूजल प्रबन्धन में सुधार लाये जाने के उद्देश्य से ‘अटल भूजल योजना‘ के रूप में एक नवीन योजना भी प्रस्तावित की जा रही है, जो भूजल प्रबन्धन के क्षेत्र में बहुत ही लाभकारी सिद्ध होगी।
इस अवसर पर विभागीय प्रमुख सचिव, श्रीमती अनीता सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश देश का अकेला ऐसा राज्य है, जहाँ भूजल के प्रति बड़े पैमाने पर जन-जागरूकता पैदा करने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ग्राउण्ड वाटर का डाटा पब्लिक डोमेन में होना चाहिए ताकि लोगों को गिरते भूजल स्तर का पता चल सके। उन्होंने कहा कि राज्य भूजल संरक्षण मिशन के अन्तर्गत संकटग्रस्त विकासखण्डों में एकीकृत रिचार्ज प्लान के माध्यम से भूजल की स्थिति में अपेक्षित सुधार लाये जाने के उद्देश्य से सम्बन्धित जनपदों के जिलाधिकारियों के निर्देशन में जल संचयन की विभिन्न गतिविधियाँ प्राथमिकता पर संचालित की जा रही हैं।
समारोह में मुख्य वक्ता के रूप में प्रो0 अवध राम, पूर्व कुलपति, महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ, वाराणसी ने कहा कि भूजल के संकट से निपटने के लिए सरकार ने प्रतिबद्धता दर्शायी है, किन्तु यह आम जनता की सहभागिता के बगैर सम्भव नहीं है। भूजल सप्ताह जैसे कार्यक्रमों की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि इसमें स्कूल-कालेजों के छात्र-छात्राओं को जोड़ा जाना एक बहुत बड़ी उपलब्धि है।
कार्यक्रम में श्री वेंकटेश दत्ता, एसोसिएट प्रोफेसर, बाबा भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय, लखनऊ ने ‘‘शहरों की बदलती भूजल अर्थव्यवस्था: प्रबन्धन एवं नियोजन की चुनौतियाँ एवं समाधान‘‘ तथा संजय सिंह, अध्यक्ष, परमार्थ संस्था, बुन्देलखण्ड ने ‘‘सामुदायिक सहयोग से भूजल भरण हेतु बुन्देलखण्ड में किये जा रहे अभिनव प्रयास‘‘ विषय पर ज्ञानवर्धक प्रस्तुतीकरण किया। समारोह में वाई0बी0 कौशिक, क्षेत्रीय निदेशक, केन्द्रीय भूजल बोर्ड, डी0एन0 शुक्ला, मुख्य अभियन्ता, लघु सिंचाई विभाग, आदि वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। इस मौके पर ‘‘ग्राउण्ड वाटर जोन मैप्स - एटलस‘‘ पुस्तिका का विमोचन भी किया गया।
समारोह में आंचलिक विज्ञान नगरी, लखनऊ में दिनांक 16 जुलाई, 2018 से आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों एवं प्रतियोगिताओं के विजेता छात्र-छात्राओं को कैबिनेट मंत्री प्रो. बघेल द्वारा पुरस्कार वितरित किये गये। निदेशक, भूगर्भ जल विभाग, उ0प्र0 श्री वी0के0 उपाध्याय ने अपने सम्बोधन में प्रदेश में भूगर्भ जल की स्थिति व निदान की ओर ध्यान आकृष्ट करते हुए बताया कि ‘भूजल सप्ताह‘ पूरे प्रदेश में जनपद, विकासखण्ड व तहसील स्तर पर मनाया गया, जिसमें विभिन्न स्कूल-कालेजों के बच्चों ने विभिन्न प्रतियोगिताओं के माध्यम से भूजल संरक्षण व सम्वर्धन हेतु अपनी सक्रिय भागीदारी दी।


प्रदेश के समस्त जनपदों की मुख्य नदियों में विसर्जित की जाएंगी अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां-मुख्यमंत्री

प्रदेश के समस्त जनपदों की मुख्य नदियों...

प्रदेश के समस्त जनपदों की मुख्य नदियों में विसर्जित...

लोकसभा और चार राज्यों में चुनाव दिसंबर में एक साथ कराने में आयोग सक्षम- चुनाव आयुक्त

लोकसभा और चार राज्यों में चुनाव दिसंबर...

लोकसभा और चार राज्यों में चुनाव दिसंबर में एक साथ...

जैसे-जैसे चुनाव की तिथियां नजदीक आ रही हैं, भाजपा नेतृत्व की घबराहट बढ़ती जा रही है- अखिलेश यादव

जैसे-जैसे चुनाव की तिथियां नजदीक आ रही...

जैसे-जैसे चुनाव की तिथियां नजदीक आ रही हैं, भाजपा...

A.D से हो रहा है महाराजगंज मे भष्ट्राचार,नदियो की गहराई और परकोपाइन मे है लम्बा धालमेल

A.D से हो रहा है महाराजगंज मे भष्ट्राचार,नदियो...

A.D से हो रहा है महाराजगंज मे भष्ट्राचार,नदियो की...

 उ0प्र0 में देश का सबसे बड़ा ‘वर्कफोर्स’ मौजूद: राष्ट्रपति

उ0प्र0 में देश का सबसे बड़ा ‘वर्कफोर्स’ मौजूद:...

उ0प्र0 में देश का सबसे बड़ा ‘वर्कफोर्स’ मौजूद: राष्ट्रपति

कालाहांडी होने से बचा लखनऊ,बेसहारा महिला को समय पर मदद कर उसके पति के शव को भेजा गया सीतापुर

कालाहांडी होने से बचा लखनऊ,बेसहारा महिला...

कालाहांडी होने से बचा लखनऊ,बेसहारा महिला को समय...

ExpressNews7