Expressnews7

बैकुंठ धाम विधुत शव दाह केन्द्र खराब,गरीबो और लावारिसो का नही हो पा रहा है अन्तिम संस्कार

बैकुंठ धाम विधुत शव दाह केन्द्र खराब,गरीबो और लावारिसो का नही हो पा रहा है अन्तिम संस्कार

2018-09-05 08:56:47
बैकुंठ धाम विधुत शव दाह केन्द्र खराब,गरीबो और लावारिसो का नही हो पा रहा है अन्तिम संस्कार

वर्षा वर्मा ने नगर निगम की खोली पोल,मेयर को बताया हकीकत
लखनऊ-गरीबो और लावारिसो के अन्तिम संस्कार के लिये बने बैकुंठ धाम का विधुत शव दाह केन्द्र महीनो से खराब है। जिसकी वजह से आने वाले लावारिस और गरीब परिवार के लोगो के परिजनो का अंतिम संस्कार नही हो पा रहा है। इसका खुलासा तब हुआ जब एक कोशिश एैसी भी की वर्षा वर्मा और दिव्य फांऊन्डेशन के दीपक महाजन एक गरीब परिवार की महिला का अन्तिम संस्कार करने के लिये बैकुंठ धाम के विधुत शव दाह केन्द्र पहॅुचे। वहाॅ पहुचने पर वहाॅ के कर्मचारियो ने बताया कि विधुत शव दाह केन्द्र की मशीन कई दिनो से खराब पडी है। कर्मचारियो ने बताया कि इसकी जानकारी नगर निगम सहित आला अधिकारियो को दे दी गयी है। परन्तु इसको बनवाने के लिये अभी तक कोई इन्तजाम नही किया गया है।  
वर्षा वर्मा की जुबानी-
जहां सरकार स्मार्ट सिटी बनाने के ख्वाब देख रही हैं वही लखनऊ की एक तस्वीर मैं आप सभी लोगों के साथ साझा करना चाहती हूं। एक गरीब परिवार की महिला को दाह संस्कार के लिए जब कल हम लोग विधुत शव दाह गृह बैकुंठ धाम पहुंचे तो पता चला बिजली शव दाह केन्द्र मशीन पिछले कुछ दिनों से खराब पड़ी है जिसकी वजह से भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
कोई भी गरीब इंसान जिसके पास शव को जलाने के लिए लकड़ी घी तथा चीजों के लिए पैसे नहीं है तो वह अपने परिवार के उस सदस्य को जो अब इस दुनिया में नहीं रहा है उसका अंतिम संस्कार किस रूप में करें ?
वहीं पर बैठे विधुत शव दाह गृह का एक कर्मचारी जो कि आप 30 साल की नौकरी कर चुके हैं उनसे जब बातचीत हुई तो उन्होंने बताया कि पिछले कई दिनों से न जाने कितनी लाशें यहां पर जलाने के लिये आयी मगर मशीन खराब होने की वजह से मृत शरीर को गांढ दिया गया। कर्मचारी ने बताया कि यदि यहां पर एक ही जगह दो मशीनें होती तो कम से कम गरीब आदमी को दर-दर की ठोकरें नहीं खानी पड़ती।।
इस सिलसिले में जब हमारी बात लखनऊ की पहली मेयर संयुक्ता भाटिया जी से हुई तो उन्होंने बताया कि मशीन बन गई है तो मैंने उनको अवगत कराया कि मैडम मैं यहीं पर खड़ी हूं मेरी आंखो के सामने ही मशीन खुली पड़ी है। इस धटना को देखकर एैसा लग रहा है कि या तो नीचे के लोगों ने मेयर को गलत रिपोर्ट दी या फिर प्रशासन ही आम जनता को बेवकूफ बनाए जा रहा है।



दीपक महाजन ने कहा-
बैकुंठ धाम पहुंचे तो पता चला बिजली शव दाह संस्कार मशीन पिछले कुछ दिनों से खराब पड़ी है। जिसकी वजह से भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है कोई भी गरीब इंसान जिसके पास शव को जलाने के लिए लकड़ी घी तथा चीजों के लिए पैसे नहीं है तो वह अपने परिवार के उस सदस्य को जो अब इस दुनिया में नहीं रहा है उसका अंतिम संस्कार किस रूप में करें यह बहुत बडा सवाल है। हम लोग सभी सामाजिक कार्य सरकार से बगैर एक पैसे की मदद के करते हैं और हमारे पास इतना पैसा नहीं होता कि हम लकड़ी में लावारिस या घरों से निकाले गए इंसानों के शवों या आर्थिक मंदी से जूझते हुए परिवारों के शवों को दाह संस्कार कर पाए।  लकडी से दाह संस्कार मे 7 से 8 हजार रूपये खर्च आता है। अब एैसे मे प्रदेश सरकार और नगर निगम एैसे गरीब लोगो पर ध्यान देने की जरूरत है साथ ही विधुत शव दाह गृहो की संख्या बढाने की भी जरूरत है।  

इस समबन्ध मे लखनऊ की मेयर संयुक्ता भाटिया से फोन पर बात करने की कोशिश की गयी तो वह किसी कार्यक्रम मे व्यस्त थी।


स्वच्छता को जीवन का अनिवार्य अंग बनायें-नगर विकास मंत्री

स्वच्छता को जीवन का अनिवार्य अंग बनायें-नगर...

स्वच्छता को जीवन का अनिवार्य अंग बनायें-नगर विकास...

 वैश्विक शिखर सम्मेलन-2018 के आयोजन के संबंध में रोडमैप तैयार करने पर हुई चर्चा

वैश्विक शिखर सम्मेलन-2018 के आयोजन के संबंध...

वैश्विक शिखर सम्मेलन-2018 के आयोजन के संबंध में रोडमैप...

यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 7 फरवरी से

यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 7 फरवरी...

यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 7 फरवरी से

कैराना उपचुनाव लडने की पेशकश BJP ने की थी

कैराना उपचुनाव लडने की पेशकश BJP ने की थी

कैराना उपचुनाव लडने की पेशकश BJP ने की थी

राष्ट्रीय पुस्तक मेला और धानी चुनरिया के तत्वाधान में हुआ सांस्कृतिक कार्यक्रम

राष्ट्रीय पुस्तक मेला और धानी चुनरिया...

राष्ट्रीय पुस्तक मेला और धानी चुनरिया के तत्वाधान...

घमण्ड में चूर है  भाजपा सरकार- अखिलेश यादव

घमण्ड में चूर है भाजपा सरकार- अखिलेश यादव

घमण्ड में चूर है भाजपा सरकार- अखिलेश यादव

ExpressNews7