Expressnews7

संक्रामक रोगों पर नियंत्रण हेतु जनपदों में उपकेन्द्र से लेकर जनपद स्तर तक की टीमों को हाई allert- सिद्धार्थ नाथ सिंह

संक्रामक रोगों पर नियंत्रण हेतु जनपदों में उपकेन्द्र से लेकर जनपद स्तर तक की टीमों को हाई allert- सिद्धार्थ नाथ सिंह

2018-09-19 17:27:11
संक्रामक रोगों पर नियंत्रण हेतु जनपदों में उपकेन्द्र से लेकर जनपद स्तर तक की टीमों को हाई allert- सिद्धार्थ नाथ सिंह

ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में संक्रामक रोगों का एक्टिव सर्विलान्स
लखनऊ-उत्तर प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री, सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा है कि मीडिया के विभिन्न माध्यमों द्वारा संक्रामक रोगों के सम्बन्ध में स्वास्थ्य विभाग के नेतृत्व में अन्य विभागों द्वारा किए जा रहे सम्मिलित निरोधात्मक एवं उपचारात्मक प्रयासों के कारण प्रदेश के विभिन्न जनपदों में संक्रामक रोगों की स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है। श्री सिंह ने बताया कि सभी जनपदों में उपकेन्द्र से जनपद स्तर तक की टीमों को हाई एलर्ट कर दिया गया है। ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में संक्रामक रोगों का एक्टिव सर्विलान्स किया जा रहा है। साथ ही संक्रामक रोगों से हुई मौतों का डेथ आडिट भी नियमित रूप से कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के किसी भी अन्य जनपद में आउटब्रेक/संक्रामक रोगों के प्रसार की कोई रिपोर्ट नहीं है तथा स्थिति नियंत्रण में है।
श्री सिंह ने बताया कि विभिन्न जनपदों से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार बरेली में संक्रामक रोग के नियंत्रण हेतु कुल 91 टीमें सक्रिय हैं, जिनके द्वारा अब तक कुल 63329 ज्वर के रोगियों की जाॅच एवं उपचार सुनिश्चित किया गया। इनमें से 10299 रोगियों की ब्लड स्लाइड बनाई गई तथा 42880 रोगियों की जाॅच रैपिड डायग्नोस्टिक किट के माध्यम से की गई। उन्होंने बताया कि जनपद बरेली में ज्वर सम्बन्धित लक्षणों के कारण कुल 24 मृत्यु रिपोर्ट हुई है जबकि अन्य कारणों जैसे एक्सीडेन्ट, कैंसर, सिरोसिस, रीनल फेल्योर इत्यादि कारणों से 21 मृत्यु रिपोर्ट हुई हैं। जनपद में निरोधात्मक कार्यवाही के सतत् पर्यवेक्षण के लिए एक राज्य स्तरीय दल वर्तमान में कैम्प कर रहा है।
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि जनपद बदायूॅ में संक्रामक रोगों की स्थिति को दृष्टिगत रखते हुए उच्चाधिकारियों के दिशा-निर्देशन में केन्द्रीय स्तर एवं राज्य स्तर की टीमों को भी नियंत्रण कार्यवाही में लगाया गया। वर्तमान में जनपद में कुल 53 टीमें क्रियाशील हैं। श्री सिंह ने कहा कि इन टीमों के द्वारा कुल 30,361 ज्वर रोगियों को उपचार प्रदान किया गया जिसमें से 8,917 रोगियों की स्लाइड बनाई गई तथा 12,450 रोगियों की रैपिड डायग्नोस्टिक किट से जाॅच की गई। उन्होंने कहा कि बदायूं में अब तक ज्वर के कारण कुल 23 मृत्यु हुई है जबकि अन्य कारणों से हुई मौतों की संख्या 115 हैं।
श्री सिंह ने कहा कि इसी प्रकार हरदोई में कुल 14 संक्रामक रोग नियंत्रण टीमों द्वारा 1985 ज्वर रोगियों का परीक्षण एवं उपचार किया गया। उन्होंने कहा कि जनपद में अब तक ज्वर के कारण कुल 12 रोगियों की मृत्यु रिपोर्ट हुई है, जबकि अन्य कारणों से कुल 17 व्यक्तियों की मृत्यु रिपोर्ट हुई है। इसके साथ ही जनपद बहराईच में अब तक कुल 70 व्यक्तियों की मृत्यु रिपोर्ट की गई है जिनमें से 6 रोगियों की मृत्यु बुखार के कारण रिपोर्ट की गयी है।
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि बरेली एवं बदायूॅ मंे जलजनित रोगों की पहचान के लिए जल के 06 नमूने एकत्रित किए गए तथा इनका परीक्षण क्षेत्रीय प्रयोगशाला में किया गया। इनमें से तीन नमूने उत्तम, एक नमूना संतोषजनक, एक नमूना संदेहास्पद एवं एक नमूना असंतोषजनक पाया गया। इन नमूने के परिणाम के आधार पर अग्रिम कार्यवाही हेतु सम्बन्धित जनपदों को आवश्यक दिशा-निर्देश निर्गत कर दिये गये हैं।
उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त प्रदेश के जनपद पीलीभीत, शाहजहाॅपुर एवं सीतापुर से भी संक्रामक रोगों की सूचनाएं रिपोर्ट हुई हैं, जिसके क्रम में इन जनपदों में व्यापक स्तर पर निरोधात्मक एवं उपचारात्मक कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है। श्री सिंह ने कहा कि पीलीभीत में अब तक कुल 10310 ज्वर के रोगियों की जाॅच कर उन्हें उपचार प्रदान किया गया है। जनपद पीलीभीत में ज्वर के लक्षण से सम्बन्धित 04 मृत्यु तथा अन्य कारणों से 19 मृत्यु रिपोर्ट हुई है। इसी प्रकार शाहजहाॅपुर में कुल 12834 ज्वर रोगियों का परीक्षण कर उपचार प्रदान किया गया। शाहजहाँपुर में ज्वर से ग्रसित 02 रोगियों की मृत्यु तथा अन्य कारणों से 20 व्यक्तियों की मृत्यु रिपोर्ट प्राप्त हुई है। जनपद सीतापुर में कुल 8075 बुखार के रोगी देखे गए। जनपद से बुखार के लक्षण से सम्बन्धित 08 मृत्यु तथा अन्य कारणों से 26 मृृत्यु रिपोर्ट हुई है।
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि इन टीमों द्वारा रोगियों को समुचित उपचार प्रदान करते हुए इनके घरों के आस-पास समन्वित वेक्टरजनित रोग नियंत्रण कार्यवाही भी सम्पादित की जा रही है। साथ ही प्रभावित क्षेत्रों में आवश्यक निरोधात्मक कार्यवाही जैसे सोर्स रिडक्शन, एण्टीलार्वा दवा का छिड़काव तथा स्वास्थ्य शिक्षा भी प्रदान की जा रही है।


सेक्युलर मोर्चे के बिना केंद्र और यूपी में नहीं बन पाएगी सरकार

सेक्युलर मोर्चे के बिना केंद्र और यूपी...

सेक्युलर मोर्चे के बिना केंद्र और यूपी में नहीं...

योगी की कैबिनेट ने 12 अहम प्रस्तावों को दी मंजूरी

योगी की कैबिनेट ने 12 अहम प्रस्तावों को दी...

योगी की कैबिनेट ने 12 अहम प्रस्तावों को दी मंजूरी

खनिजों के मूल्य को नियंत्रित करने के लिए प्रभावी व्यवस्था की जाए- मुख्यमंत्री

खनिजों के मूल्य को नियंत्रित करने के लिए...

खनिजों के मूल्य को नियंत्रित करने के लिए प्रभावी...

शाहजहांपुर में निर्माणाधीन इमारत गिरने से कई मजदूर दबे,1 की मौत,कई गम्भीर रूप से धायल

शाहजहांपुर में निर्माणाधीन इमारत गिरने...

शाहजहांपुर में निर्माणाधीन इमारत गिरने से कई...

सिंचाई मन्त्री ने प्रमुख अभियन्ता को दी चेतावनी,पत्र लिखकर कहा बिना पूछे न करे कोई आदेश

सिंचाई मन्त्री ने प्रमुख अभियन्ता को दी...

सिंचाई मन्त्री ने प्रमुख अभियन्ता को दी चेतावनी,पत्र...

उर्दू शिक्षकों की भर्ती हुई रद्द, आदेश हुआ जारी

उर्दू शिक्षकों की भर्ती हुई रद्द, आदेश...

उर्दू शिक्षकों की भर्ती हुई रद्द, आदेश हुआ जारी

ExpressNews7