Expressnews7

अमृतसर में हुआ बड़ा ट्रेन हादसा, ट्रेन ने कुचलने से 60 लोगों की मौत

अमृतसर में हुआ बड़ा ट्रेन हादसा, ट्रेन ने कुचलने से 60 लोगों की मौत

2018-10-19 18:43:46
अमृतसर में हुआ बड़ा ट्रेन हादसा, ट्रेन ने कुचलने से 60 लोगों की मौत

अमृतसर: पंजाब के अमृतसर में शुक्रवार की शाम एक भीषण हादसा हो गया. रावण दहन देख रहे लोग तेज रफ्तार ट्रेन की चपेट में आ गए, जिससे कम से कम 60 लोगों की मौत हो गई और 51 अन्य घायल हो गए. घायलों में कई की हालत गंभीर है. इस घटना से स्थानीय लोगों में आक्रोश है और त्योहार के दिन देशभर में लोग गमगीन हैं. अमृतसर के सब डिवीजनल मजिस्ट्रेट राजेश शर्मा ने कहा कि 50 शव बरामद कर लिए गए हैं और करीब 50 घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. अमृतसर पुलिस आयुक्त एस.एस. श्रीवास्तव ने कहा कि मृतकों की संख्या 50-60 से ज्यादा होगी.

ट्रेन जालंधर से अमृतसर आ रही थी तभी जोड़ा फाटक पर यह हादसा हुआ. मौके पर कम से कम 300 लोग मौजूद थे जो पटरियों के निकट एक मैदान में रावण दहन देख रहे थे. अमृतसर के प्रथम उपमंडलीय मजिस्ट्रेट राजेश शर्मा ने बताया कि 50 शवों को बरामद किया गया है और कम से कम 50 घायलों को एक सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. अधिकारियों ने बताया कि रावण के पुतले को आग लगाने और पटाखे फूटने के बाद भीड़ में से कुछ लोग रेल की पटरियों की ओर बढ़ना शुरू हो गए जहां पहले से ही बड़ी संख्या में लोग खड़े होकर रावण दहन देख रहे थे. ट्रेन नंबर 74643 से यह हादसा हुआ है. बड़ी संख्या में लोग रेल पटरी पर खड़े होकर रावण दहन देख रहे थे. इसी दौरान रेलगाड़ी आ गई और बड़ी तादाद में लोग इसकी चपेट में आ गए. रावण दहन के दौरान पटाखों की गूंज की वजह से लोग ट्रेन की सीटी नहीं सुन सके.

अधिकरी ने बताया कि उसी वक्त दो विपरीत दिशाओं से एक साथ दो ट्रेनें आई और लोगों को बचने का बहुत कम समय मिला. उन्होंने बताया कि एक ट्रेन की चपेट में कई लोग आ गए. इस घटना के बाद से ही मौके पर चीख पुकार मच गई, बदहवास लोग अपने करीबियों को तलाशने लगे. क्षत-विक्षत शव घटना के घंटों बाद भी घटनास्थल पर ही पड़े थे क्योंकि नाराज लोग प्रशासन को शव हटाने नहीं दे रहे थे. कई शवों की पहचान भी नहीं हो सकी. जमीन पर क्षत-विक्षत शव पड़े हुए थे. लोगों ने स्थानीय विधायक नवजोत कौर सिद्धु के खिलाफ नारेबाजी की जो रावण दहन कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि के तौर पर वहां मौजूद थीं. इस घटना के बाद परेशान लोगों ने अपने दिल दहलाने वाले अनुभव साझा किये. एक गमगीन महिला ने कहा, ‘‘मैंने अपना नाबालिग बेटा खो दिया। मुझे मेरा बेटा लौटा दो.''

एक स्थानीय शख्स ने कहा, ‘‘कई बार हमनें अधिकारियों और स्थानीय नेताओं से कहा कि इस मुद्दे को रेलवे के साथ उठाएं कि दशहरे के दौरान फाटक के पास ट्रेनों की गति को कम रखा जाए, लेकिन किसी ने हमारी बात नहीं सुनी.'' एक अन्य व्यक्ति ने कहा कि पटाखों के शोर की वजह से लोगों को आ रही ट्रेन की आवाज नहीं सुन सकी. इस घटना के बाद देश भर में शोक की लहर फैल गई. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों की मौत पर दुख व्यक्त किया है.

रेलवे ने हादसे को लेकर हेल्पलाइन नंबर 0183-2223171, 0183-2564485 जारी किया है.


केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि अब हिंदुओं का सब्र टूट रहा है

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि...

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि अब हिंदुओं...

RMNCH+A और पोषण पर संगोष्टी- स्वास्थ्य, पोषण, सबको सम्मान, उत्तर प्रदेश का अभिमान

RMNCH+A और पोषण पर संगोष्टी- स्वास्थ्य, पोषण,...

RMNCH+A और पोषण पर संगोष्टी- स्वास्थ्य, पोषण, सबको सम्मान,...

मुख्यमंत्री ने शास्त्री भवन नही छोडा,लोक भवन के साथ शास्त्री भवन से भी करेगे शासकीय कार्य

मुख्यमंत्री ने शास्त्री भवन नही छोडा,लोक...

मुख्यमंत्री ने शास्त्री भवन नही छोडा,लोक भवन के...

राज्यपाल ने महाराष्ट्र के साईकिल दल को झण्डी दिखाकर किया रवाना

राज्यपाल ने महाराष्ट्र के साईकिल दल को...

राज्यपाल ने महाराष्ट्र के साईकिल दल को झण्डी दिखाकर...

सेक्युलर मोर्चे के बिना केंद्र और यूपी में नहीं बन पाएगी सरकार

सेक्युलर मोर्चे के बिना केंद्र और यूपी...

सेक्युलर मोर्चे के बिना केंद्र और यूपी में नहीं...

योगी की कैबिनेट ने 12 अहम प्रस्तावों को दी मंजूरी

योगी की कैबिनेट ने 12 अहम प्रस्तावों को दी...

योगी की कैबिनेट ने 12 अहम प्रस्तावों को दी मंजूरी

ExpressNews7